Showing posts with label Chutkule. Show all posts

5/17/2021

thumbnail

क्रिकेट खेलने का मेहनताना (Funny Story)

 एक वृद्ध रिटायर्ड सज्जन का घर मुंबई की एक संकरी सी गली में था. उनकी एक समस्या थी कि रोज शाम को उनकी गली के सारे लड़के उनके घर के सामने ही क्रिकेट खेला करते थे. खेलते समय वो बच्चे इतना शोर मचाते कि वृद्ध सज्जन का ब्लड प्रेशर बढ़ जाता. पर वो बच्चों को खेलने से मना करके उनका दिल भी नहीं दुखाना चाहते थे.वो कुछ ऐसा करना चाहते थे कि सांप भी मर जाए और लाठी भी न टूटे.

एक दिन जब बच्चे क्रिकेट खेल रहे थे तब वो उनके पास पहुंचे और बोले – “बच्चो, मैं जब छोटा था तब मैं भी बहुत क्रिकेट खेला करता था. तुम लोग जब यहाँ खेलते हो तो मैं तुम्हारा खेल देखता हूँ और इससे मुझे बड़ी ख़ुशी मिलती है. मुझसे वादा करो कि तुम लोग रोज़ यहाँ ऐसे ही क्रिकेट खेलते रहोगे … इसके एवज में मैं तुम्हें सौ  रुपये हर सप्ताह दिया करूँगा !”

अपना पसंदीदा काम करने के पैसे भी मिलेंगे ! यह सुनकर बच्चे खुश हो गए और वृद्ध सज्जन से रोज क्रिकेट खेलने का वादा किया.

इसके बाद बच्चों ने एक सप्ताह तक जम कर क्रिकेट खेली और आखिरी दिन अपने पैसे मांगने पहुँच गए. वृद्ध सज्जन ने मुस्कुराते हुए बच्चों को सौ रुपये दे दिए.

बच्चों ने अगले सप्ताह फिर जम कर क्रिकेट खेली और आखिरी दिन फिर पैसे मांगने पहुँच गए. इस बार वृद्ध बोले – “बच्चो, सौ रुपये कुछ ज्यादा हैं… अब से मैं हर हफ्ते 75 रुपये ही दिया करूंगा.” और उन्होंने 75 रुपये बच्चों को दे दिए.

अगले सप्ताह जब बच्चे फिर पैसे लेने पहुंचे तो सज्जन बोले – “इस बार मेरी पेंशन अभी तक नहीं आई है, ये तीस रुपये पड़े हैं, ये ले जाओ !”

बच्चों ने तीस रुपये ले तो लिए पर वो खुश नहीं हुए. मुँह लटकाए हुए लौट आये.

फिर एक सप्ताह बीता. बच्चे फिर अपने पैसे लेने पहुंचे तो सज्जन बोले – “आज तो मेरे पास 10 ही रुपये हैं … ये ले जाओ !”

ये तो हद थी. एक बड़ा बच्चा बोला – “आप चाहते हैं कि हम 10 रुपल्ली में आपके लिए 7 दिन तक खेलते रहें ? रखिये अपने 10 रुपये … हम इतने में नहीं खेल पायेगे… चलो दोस्तों !”

और उस दिन के बाद से वृद्ध सज्जन के घर के सामने बच्चों का क्रिकेट खेलना बंद हो गया.

(Image : Pixabay.com)

3/26/2021

thumbnail

Funny WhatsApp Hindi Jokes | चुट्कुले | Comedy Jokes in Hindi

 Very Funny WhatsApp Jokes in Hindi. Best comedy Hindi jokes and Chutkule 

बिना हंसी मुस्कुराहट के ज़िंदगी भी कोई ज़िंदगी होती है। ज़िंदगी तो वही है जो हँसते हँसाते गुजरे । तो फिर हंसने जैसे शुभ काम में देर किस बात की, लीजिये शुरू हो जाइए इन चुटकुलों के साथ - 

एक दुखी माँ की गुहार (Hindi Joke)

प्लीज ऐसी खबरें न छापें - 

"कामवाली बाई की लड़की IAS बनीं"

"कामवाली बाई के लड़के को परीक्षा में 99% अंक मिले"

"कामवाली की बेटी ने जीता गोल्ड मेडल"

ऐसी खबरें पढ़कर बच्चे ज़िद करने लगे हैं कि मम्मी तुम भी दूसरों के घर बर्तन माँजने जाया करो !!!

------------

नाकाम इश्क़ और मुकम्मल इश्क़ (Teacher Student Joke)

प्रोफेसर - "नाकाम इश्क़" और "मुकम्मल इश्क़" में क्या फर्क होता है ?

छात्र - सर, नाकाम इश्क़ बेहतरीन शायरी करता है, गजल सुनता है, कभी पहाड़ों में कभी समंदर किनारे घूमता है, उम्दा शराब पीता है ... 

जबकि "मुकम्मल इश्क़" सब्जी के साथ धनिया कैसे मुफ्त मिले, ऑफिस से लौटते हुये दूध ब्रैड लाने, आटे-दाल के भाव देखते, सनडे को पंखा साफ करते ... दम तोड़ देता है !!!

प्रोफेसर ने छात्र के पैर पकड़ लिए .... 

सब्र और शुक्र (Funny WhatsApp Hindi Joke)

सब्र और शुक्र दोनों का ही बड़ा दर्जा होता है। सब्र मुसीबत को टालता है और शुक्र सुख चैन को बढ़ाता है। इसीलिए जब पत्नी मायके गई हुई हो तो शुक्र मनाएँ और जब घर में हो तो सब्र करें। 

--------------

गजल और भाषण (Teacher Student Joke in Hindi)

मास्टर जी ने गप्पू से पूछा - "गजल और भाषण में क्या अंतर है ?"

गप्पू ने बताया - "पराई स्त्री के मुख से निकली हर बात गजल है और अपनी बीवी के मुख से निकला हर शब्द भाषण है।"

मास्टर जी ने आज शाम गप्पू को बीयर की दावत पर बुलाया है .... 

--------------

आजकल के माँ बाप (Funny WhatsApp Joke)

आजकल के माँ बाप सुबह सुबह बच्चे को स्कूल बस में बिठाकर ऐसे बाय बाय करते हैं जैसे उसे पढ़ने नहीं, विदेश यात्रा पर भेज रहे हों, 

एक हम थे ... 

रोज लात खाकर ही स्कूल जाते थे .... 

-------------- 

बिलकुल भी दर्द नहीं हो रहा (Joke received on WhatsApp)

वैक्सीन लगवाकर पति महोदय घर आए और बोले - "नर्स ने कितना सही इंजेक्शन लगाया बिलकुल भी दर्द नहीं हो रहा ... 

अंदर से आवाज आई - "उसकी सुइयां नहीं चुभतीं .... मेरी बातें भी चुभ जाती हैं !!!"

----------------

उदाहरण 

शिक्षक - भारतीय परिवार के सदस्य एक दूसरे को प्यार करते हैं और एक दूसरे की परवाह करते हैं इसका कोई उदाहरण दो ... 

छात्र - उपवास एक करता है और साबुदाना खिचड़ी पूरा परिवार खाता है ... !!!


और पढ़ें ....