Showing posts with label Knowledge. Show all posts

5/19/2021

thumbnail

7 Best Websites, जहां पर आप Free Hindi Movies देख सकते हैं

 कोरोना महामारी के इस दौर में आम आदमी घरों में कैद रहने को मजबूर हो गया है। ऐसे माहौल में अकेलेपन और ऊब से उपजी नकारात्मकता को दूर करने का एकमात्र साधन जो उपलब्ध है वह है इंटरनेट आधारित मनोरंजन ।

भारत में Bollywood Movies मनोरंजन का एक बहुत बड़ा साधन हैं लेकिन चूंकि इन दिनों सिनेमाघर बंद हैं इसलिए आप बाहर देखने नहीं जा सकते। इस लेख में हम आपको बताएँगे कि किस तरह आप घर बैठे Hindi Movies देख सकते हैं internet के माध्यम से, वह भी बिलकुल Free और legally!

जी हाँ, इस लेख में हम आपको Movies को download करने का कोई अनैतिक जरिया नहीं बताने वाले हैं, बल्कि ऐसी websites के बारे में बताने वाले हैं जहां जाकर आप Free में Hindi Movies देख सकते हैं। 

हालांकि यहाँ आपको यह भी बताना हम जरूरी समझते हैं कि जिन sites के नाम हम आपको बताने वाले हैं उनमें से कई  पर सारा कंटैंट फ्री में उपलब्ध नहीं है, बल्कि ढेर सारा प्रीमियम कंटैंट भी है जिसके लिए आपको subscription लेना पड़ सकता है। लेकिन फिर भी Free में बहुत कुछ उपलब्ध है, तो क्यों न उसका लाभ उठाया जाये। 

1. Disney+Hotstar

Disney+HotStar (www.hotstar.com) भारत के सबसे लोकप्रिय Online Content Providers में से एक है जहां आप न सिर्फ Movies बल्कि TV Shows और Web series भी देख सकते हैं। 

यह प्लैटफ़ार्म website और mobile app दोनों ही रूपों में उपलब्ध है और प्रीमियम कंटैंट देखने के लिए आपको सब्स्क्रिप्शन लेना पड़ता है। लेकिन इस पर आप टीवी shows और मूवीज फ्री में देख सकते हैं। 

2. ZEE5

ZEE5 भी भारत का एक बेहद लोकप्रिय ओटीटी प्लेटफॉर्म है जहां प्रीमियम कंटैंट के साथ कई Free Movies भी उपलब्ध हैं जिन्हें आप बिना सब्स्क्रिप्शन लिए देख सकते हैं। 


ZEE5 पर उपलब्ध movies की सूची जो कि free हैं, यहाँ क्लिक करके देखी जा सकती हैं - 

3. Voot 

Voot एक popular OTT platform है जहां पर अन्य websites की तरह प्रीमियम कंटैंट के साथ साथ  आपको कई सारी free online Hindi movies भी देखने को मिल जाएंगी। 

Voot पर फ्री में मूवी देखने के लिए आपको voot.com पर जाकर Movie Mania : Watch for free सेक्शन में जाना होगा। यहाँ आपको फ्री में उपलब्ध मूवीज की सूची मिल जाएगी जिसमें से आप अपनी पसंद की मूवी चुनकर देख सकते हैं। 

4. MX Player

MXPlayer (www.mxplayer.in) फ्री कंटैंट देखने के लिए मेरी favourite website है। इस पर ढेर सारा कंटैंट उपलब्ध है जिनमें न सिर्फ movies बल्कि, tv shows, web shows आदि भी सुगमता से देखे जा सकते हैं। 


Mx Player पर कई लोकप्रिय वेब सिरीज़ भी उपलब्ध हैं जिन्हें आप बिलकुल फ्री में देख सकते हैं। 

5. JioCinema

जैसा कि Jio Cinema के नाम से ही स्पष्ट है कि यह Jio कंपनी का  OTT platform है। यदि आप Jio user हैं अर्थात आपके पास Jio की सिम है तो फिर आप Jio Cinema पर जाकर Free movies देखने का आनंद ले सकते हैं। 


Jio Cinema पर मूवी देखने के लिए आपको खास कुछ नहीं करना है बस जो फिल्म आपको पसंद है उस पर क्लिक करना है। क्लिक करते ही आपसे आपका Jio मोबाइल नंबर पूछा जाएगा। इस नंबर पर एक ओटीपी आएगा जिसे डालते ही आपकी फिल्म शुरू हो जाएगी। 

6. Airtel XStream

Jio Cinema की ही तरह Airtel XStream टेलीकॉम जायंट एयरटेल का ओटीटी प्लेटफॉर्म है। यदि आप Airtel user हैं तो इस प्लेटफॉर्म पर लॉगिन करके free ऑनलाइन मूवीज देख सकते हैं। 

7. Youtube

Youtube पर भी कई मूवी कंपनियों ने अपने चैनल बना रखे हैं जहां आप हिन्दी फिल्में देख सकते हैं। खासकर यदि आप पुरानी फिल्मों के शौकीन हैं और उन्हें देखना चाहते हैं तो Youtube इसके लिए best जगह है। एक साधारण सी search से आप तमाम पुरानी classic फिल्में खोज सकते हैं और देख सकते हैं। 

5/15/2021

thumbnail

FSSAI Registration / License क्या होता है ? खाद्य व्यवसाय के लिए ये क्यों जरूरी है ?

FSSAI क्या है ? (What is FSSAI ? )

FSSAI का फुल फॉर्म होता है Food Safety and Standards Authority of India. यह एक सरकारी स्वशासी संस्था है जो भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत आती है। यह भारत  में खाद्य पदार्थों के व्यवसायों पर निगरानी एवं नियंत्रण हेतु बनाई गई है। 

भारत में कोई भी व्यक्ति, संस्था या कंपनी जो खाद्य पदार्थों के व्यवसाय (Food Business ) में संलग्न है, फिर चाहे वह सड़क किनारे ठेला लगाने वाला चाट - पकौड़ी वाला हो, होटल ढाबा हो या खाद्य पदार्थों के निर्माण या व्यापार में लगा कोई भी व्यक्ति हो, सभी को FSSAI से रजिस्ट्रेशन या license लेना आवश्यक होता है। 

FSSAI संस्था द्वारा FBO (Food Business Operators) को तीन प्रकार के license प्रदान किए जाते है जो कि व्यवसाय के आकार और स्थिति पर निर्भर करते हैं। 

  1. Basic Registration - ये लाइसेन्स छोटे FBO के लिए होता है जिनका वार्षिक टर्नओवर 12 लाख रुपयों से कम होता है। जैसे कि हाथ ठेला वाले, छोटी मिठाई नमकीन आदि की दुकान वाले । 
  2. State License - मध्यम श्रेणी के व्यवसाय इस लाइसेन्स के अंतर्गत आते हैं जिनका टर्नओवर 12 लाख से 20 करोड़ रुपये सालाना तक होता है। 
  3. Central License - इसके अंतर्गत बड़े आकार वाले व्यवसाय आते हैं जिनका वार्षिक टर्न ओवर 20 करोड़ रुपये सालाना से अधिक होता है तथा कारोबार एक से अधिक राज्यों में फैला हुआ होता है। 

FSSAI लाइसेन्स या रजिस्ट्रेशन कैसे प्राप्त करें ? (How to obtain FSSAI License / Registration ?)

FSSAI से लाइसेन्स प्राप्त करना बहुत कठिन काम नहीं है। इसके लिए आपको license की श्रेणी के अनुसार अपने जिले की FSSAI ऑफिस में निर्धारित फॉर्म में आवेदन करना होता है। आपके द्वारा कागजातों की जांच के बाद कुछ दिनों के भीतर लाइसेन्स प्रदान कर दिया जाता है जो सामान्यतः 1 वर्ष के लिए होता है। इसे बाद में renew कराया जा सकता है। 

आजकल आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन भी होती है। इसके लिए आप FSSAI की वैबसाइट  https://foscos.fssai.gov.in पर जाकर आवेदन कर सकते हैं। इस वैबसाइट पर आवेदन में लगने वाले दस्तावेज़ और फीस का विवरण भी दिया गया है जिसे आप डाउनलोड करके पढ़ सकते हैं। 

5/13/2021

thumbnail

आपकी आईडी पर कोई और तो नहीं चला रहा सिमकार्ड, ऐसे करें पता

आज के डिजिटल युग में धोखाधड़ी और ठगी भी हाइटेक हो गई है। किसी और के पहचान पत्र के आधार पर सिमकार्ड जारी करा कर उपयोग करना भी इसी तरह की एक धोखाधड़ी है जिसका पता आसानी से नहीं चल पाता है। लेकिन अब इस तरह के मामलों पर रोक लगने वाली है। 

यदि आप पता करना चाहते हैं कि आपके पहचान पत्र के आधार पर कोई और मोबाइल नंबर तो नहीं चल रहा है तो अब इसके लिए आपको मोबाइल कंपनियों और पुलिस के चक्कर काटने की जरूरत नहीं है। अब घर बैठे ही आप इसका पता लगा सकते हैं। 

भारत सरकार के दूरसंचार विभाग (Department of Telecommunications) ने  एक पोर्टल (TAF COP Consumer Portal) लॉंच किया है जो उपभोक्ताओं को उनके नाम पर जारी किए मोबाइल नंबरों की जानकारी देगा। इस पोर्टल का पता है - https://www.tafcop.dgtelecom.gov.in ॰ 

इस पोर्टल पर आप अपना मोबाइल नंबर डाल कर और उसे ओटीपी द्वारा वेरीफाय करके अपने नाम से जारी सभी मोबाइल नंबरों की सूची देख सकते हैं। 

यदि कोई नंबर ऐसा पाया जाता है जो आपका नहीं है या आपकी जानकारी में नहीं है तो उसे बंद कराने या उचित कार्यवाही करने के लिए request भी उक्त पोर्टल के माध्यम से की जा सकती है। 

(हो सकता है अभी आप अपना नंबर डालकर चेक करें और आपको कोई परिणाम न मिले, क्योंकि अभी सभी उपभोक्ताओं का डाटा पोर्टल पर उपलब्ध नहीं हो पाया है। लेकिन निकट भविष्य में यह सुविधा सभी देशवासियों को मिलेगी, ऐसी उम्मीद है। )

4/29/2021

thumbnail

अब घर बैठे बन जाएगा पेन कार्ड, बस आधार नंबर होना चाहिए

आधार कार्ड की तरह PAN कार्ड भी एक अत्यंत महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है जिसकी जरूरत समय समय पर पड़ती ही रहती है। बैंक में खाता खोलना हो, वित्तीय लेनदेन करना हो, आयकर रिटर्न भरना हो या पहचान पत्र के रूप में इस्तेमाल करना हो, PAN Card सभी जगह काम आता है। 

आमतौर पर पेन कार्ड बनवाने के लिए आपको किसी PAN Card Agency के पास जाना होता है जो आपसे दस्तावेज़ लेकर आपका आवेदन जमा करा देते हैं। बाद में आपका पेन कार्ड डाक के माध्यम से आपके घर पहुँच जाता है। 

लेकिन इस कोरोना काल में जबकि जहां देखो वहाँ लॉकडाउन या कर्फ़्यू लगे हुये हैं, पेन कार्ड बनवाने के लिए किसी एजेंसी के पास जाना मुनासिब नहीं है। ऐसे वक़्त में यदि आपको PAN Card की आवश्यकता है तो मायूस होने की बिलकुल जरूरत नहीं है क्योंकि अब आप अपना पेन कार्ड खुद ही घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से बना सकते हैं। इसके लिए आपको केवल अपने आधार नंबर की जरूरत होगी, बस ! 

इंटरनेट के माध्यम से बनाए गए इस पेन कार्ड को e-PAN के नाम से भी जाना जाता है। अपना e-PAN बनाने के लिए आपको अपना आधार नंबर और उससे लिंक्ड मोबाइल नंबर की आवश्यकता पड़ेगी। 

सम्पूर्ण प्रक्रिया इस प्रकार है - 

1 - सबसे पहले आयकर विभाग की e-filling website (https://www.incometaxindiaefiling.gov.in) पर जाएँ। 

2- यहाँ जाकर Instant PAN through Aadhaar पर क्लिक करें। 

3- अब एक नया पेज खुलेगा जिस पर Get New PAN और Check Status/Download PAN नाम की दो लिंक होंगी। यहाँ पर आप Get New PAN पर क्लिक करें। (उससे भी हमारी सलाह है कि आप इसी पेज पर दी गई लिंक की सहायता से Guidelines पहले पढ़ लें, तभी आगे बढ़ें।)

4- Get New PAN पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा जिस पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म में निर्धारित स्थान पर अपना आधार नंबर और captcha code सही सही भर दें। 

5- उपरोक्त जानकारी भरने के बाद Generate Aadhaar OTP पर क्लिक करें। 

6- अब आपको आपके आधार से लिंक मोबाइल पर एक OTP प्राप्त होगा जिसे आप उपरोक्त वैबसाइट पर निर्धारित स्थान पर भरें और अपनी आधार डिटेल्स को validate करें। 

7- उपरोक्त प्रक्रिया सफलतापूर्वक करने के बाद आपको एक इंस्टेंट पेन कार्ड अलोट कर दिया जाएगा जो कि PDF फ़ारमैट में होगा। 

8- इस पीडीएफ़ फ़ाइल को आप Check Status/Download PAN लिंक पर जाकर download कर सकते हैं। साथ ही यह पेन कार्ड आपके रजिस्टर्ड ईमेल पर भी भेज दिया जाएगा जहां से भी आप इसे डाउनलोड कर सकते हैं। 

और पढ़ें ... 

4/22/2021

thumbnail

CoWIN App Registration | कोरोना की वैक्सीन लगवाने हेतु रजिस्ट्रेशन कैसे करें

 कोरोना महामारी से बचने के लिए सरकार द्वारा देश भर में चरणबद्ध तरीके से बड़े पैमाने पर corona vaccine लगाने का अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान की अगली कड़ी के रूप में  18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लगाने हेतु रजिस्ट्रेशन 24 अप्रैल 2021 से शुरू हो जाएँगे। (Update : ताजा जानकारी के अनुसार रजिस्ट्रेशन 28 अप्रैल 2021 से शुरू होंगे )

Vaccination के लिए पहले आपको Registration कराना होगा। यह रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन जाकर घर से भी किया जा सकता है। इसके लिए भारत सरकार ने CoWIN नामक वैबसाइट लॉंच की है जिसका इंटरनेट एड्रैस https://www.cowin.gov.in है। इस वैबसाइट के जरिये Corona Vaccination हेतु Registration की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है - 

  • सबसे पहले इस वैबसाइट पर जाकर आपको Register / Sign In Yourself लिंक पर क्लिक करना है। क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा जहां आपसे आपका मोबाइल नंबर पूछा जाएगा। 
  • मोबाइल नंबर भरकर आप Get OTP पर क्लिक करेंगे जिसके बाद आपके मोबाइल पर एक मेसेज आएगा जिसमें एक OTP (One Time Password) दिया होगा। इस ओटीपी को आपको निर्दिष्ट स्थान पर भर कर Verify पर क्लिक कर देना है। 
  • मोबाइल नंबर सफलतापूर्वक verify होने के बाद आप Register for Vaccination पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। 
  • इसके लिए आपको एक Photo ID Proof की आवश्यकता होगी क्योंकि उसका नंबर आपको रजिस्ट्रेशन के दौरान भरकर देना होगा। इसके लिए आप आधार कार्ड, पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेन्स, वोटर आईडी आदि किसी भी पहचान पत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • Photo ID Number के अलावा अन्य सामान्य जानकारियाँ जैसे नाम, जन्मतिथि, लिंग आदि भरनी होती हैं जिन्हें आप आसानी से भर सकते हैं। 
बस, इसके बाद आपको अपनी सुविधानुसार वैक्सीन लगवाने का स्थान और दिन तय करना है और आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा। 
CoWIN वैबसाइट के अलावा आप आरोग्य सेतु एप (Arogya Setu App) के माध्यम से भी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। एप में भी कमोबेश वही जानकारियाँ भरनी होती हैं जो वैबसाइट पर चाहिए। 

4/08/2021

thumbnail

जिओ का डाटा बैलेन्स चेक करने का तरीका | How to check data balance of JIO Sim ?

जिओ का डाटा बैलेन्स कैसे चेक करें | How do you check JIO Data Balance ?

जिओ इंटरनेट के लिए भारत में सबसे लोकप्रिय सेवा है। इसके आने के बाद ही भारत में इंटरनेट सस्ता होना शुरू हुआ और यही कारण है कि आज internet users के मामले में जिओ बाकी टेलीकॉम कंपनियों से बहुत आगे निकल चुकी है।

यदि आप भी जिओ के ग्राहक हैं और इंटरनेट के लिए Jio की सिम का इस्तेमाल करते हैं तो कभी कभी आपको डाटा बैलेन्स चेक करने की आवश्यकता पड़ती होगी। ज़्यादातर लोग इसके लिए My Jio एप का इस्तेमाल करते हैं जिसमें आपको न सिर्फ डाटा बैलेन्स पता चल जाता है बल्कि आप जिओ के रीचार्ज सहित कई अन्य सुविधाओं का भी लाभ उठा सकते हैं । 

लेकिन यदि आपके फोन में My Jio एप नहीं है और आप उसे इन्स्टाल नहीं करना चाहते हैं तो भी आप बड़ी आसानी से Jio का Data Balance पता कर सकते हैं। इसके दो तरीके हैं। एक तो नंबर डायल करके और दूसरा मैसेज करके। 

नंबर डायल करके जिओ का डाटा बैलेन्स जानना 


इस तरीके में आपको अपनी Jio Sim से एक नंबर डायल करना होता है जो है 1299 । जैसे ही आप अपने फोन के डायलर में जाकर 1299 नंबर पर फोन करते हैं, तुरंत आपके फोन में एक मैसेज आ जाता है जिसमें आपके Jio number के data का पूरा balance लिखा होता है।  

मैसेज करके जिओ का डाटा बैलेन्स जानना 

1299 नंबर डायल करने के अलावा message करके भी Jio का data balance पता किया जा सकता है। इसके लिए आपको अपने फोन की मैसेज एप में जाकर BAL लिखकर 199 नंबर पर भेजना होता है। ध्यान रहे, कि आपको यह मैसेज अपनी जिओ सिम का इस्तेमाल करके ही भेजना है। 

जैसे ही आप BAL लिखकर 199 पर भेजेंगे तुरंत आपके फोन में जिओ की ओर से एक रिटर्न मैसेज आ जाएगा जिसमें आपका पूरा डाटा बैलेन्स लिखा होता है। 

तो अब आप जान गए होंगे कि बिना My Jio App का उपयोग किए, अपने जिओ नंबर का डाटा बैलेन्स कैसे पता किया जाता है। 

4/01/2021

thumbnail

PAN को Aadhaar से Link कराना क्यों जरूरी है ?

क्या आपने अपने PAN (Permanent Account Number) को आधार कार्ड (Aadhaar) से लिंक (Link) करा लिया है ? यदि नहीं तो तुरंत कराइए क्योंकि इसकी अंतिम तारीख 31 मार्च 2021 रखी गई है (इसे अब बढ़ाकर 30 जून 2021 कर दिया गया है)। इसके बाद लिंक कराने पर आपको 1000 रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है। 

भारत के आयकर अधिनियम 1961 के सेक्शन 139AA के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को अपने PAN नंबर को Aadhaar (आधार) नंबर से link कराना आवश्यक है । जिन लोगों को 1 जुलाई 2017 तक पैन नंबर मिल चुका था और जो आधार के लिए पात्र हैं उन्हें पैन - आधार लिंक कराना अनिवार्य है। 

PAN Card और Aadhaar Card को लिंक करने के लिए आपको आयकर विभाग की वैबसाइट https://www.incometaxindiaefiling.gov.in/home पर जाना होगा जहां आप Link Aadhaar पर क्लिक करके आसानी से अपने PAN और Aadhaar को लिंक करा सकते हैं। 

पैन और आधार को लिंक कराना क्यों आवश्यक है ? (Why is it necessary to link PAN with Aadhaar ?

दरअसल सरकार ने Finance Bill 2021 के जरिये Income Tax Act 1961 में एक नई धारा 234H जोड़ी है जिसके अनुसार अगर कोई व्यक्ति निर्धारित अंतिम तिथि तक अपने पैन को आधार से नहीं जोड़ता है तो उसे एक हजार रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है साथ ही साथ ज्यादा TDS भी देना पड़ सकता है। 

इसके साथ ही, पैन को आधार से न जोड़ने की स्थिति में आयकर विभाग ने ये भी कहा है कि PAN को निष्क्रिय कर दिया जाएगा अर्थात आपका पैन किसी काम का नहीं रहेगा। आप उसे वित्तीय लेनदेन में उपयोग नहीं कर पाएंगे। 

पैन कार्ड एक अत्यंत महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है और इसलिए इसका अपडेट और एक्टिव रहना बहुत जरूरी है। बैंकिंग से लेकर शेयर मार्केट या अन्य किसी भी प्रकार के वित्तीय लेनदेन में पैन की आवश्यकता होती ही है। इसके निष्क्रिय होने की दशा में आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। 

आयकर विभाग ने PAN-Aadhaar link के लिए 31 मार्च 2021 की तिथि तय की थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 30 जून 2021 कर दिया गया है। 

 और पढ़ें ... 

3/22/2021

thumbnail

Voter Card में online correction करना आसान है | Correct name, age in Voter Card online

यदि आपके Voter ID Card (मतदाता पहचान पत्र, EPIC) में किसी भी प्रकार की कोई त्रुटि है, जैसे नाम की स्पेलिंग गलत लिखी हुई है या जन्मतिथि गलत है / उसके स्थान पर वर्ष लिखा हुआ है, पता गलत लिखा हुआ है  आदि किसी भी प्रकार की कोई गलती है तो अब आप इसमें  बड़ी आसानी से खुद ही ऑनलाइन जाकर सुधार कर सकते हैं । अब इसके लिए आपको चुनाव कार्यालय के चक्कर लगाने की कोई जरूरत नहीं है। 

चुनाव आयोग ने मतदाता पहचान पत्र (EPIC) में सुधार (correction) की व्यवस्था एक वेब पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन कर दी है। हम आपको step-by-step बताते हैं कि इसके लिए आपको क्या करना है - 

Make correction in Voter ID Card online

1.  वोटर कार्ड में सुधार करने हेतु सबसे पहले आपको चुनाव आयोग के वोटर पोर्टल https://voterportal.eci.gov.in/  पर जाना होगा। इसकी स्क्रीन आपको कुछ निम्न प्रकार की दिखाई देगी -


2. हम ये मानकर चल रहे हैं कि आपका इस साइट पर पहले से कोई अकाउंट नहीं है अतः इस स्क्रीन में आप Create New Account पर क्लिक करें। 

3. अगले स्टेप में अकाउंट बनाने के लिए आपको अपना email address या मोबाइल नंबर देना होगा। आप अपनी इच्छानुसार जो भी चाहें दे सकते हैं। 

4. जैसे ही आप ईमेल या मोबाइल नंबर भर कर Continue पर क्लिक करेंगे, आपके पास एक लिंक आएगी (यदि आपने ईमेल एड्रैस दिया है तो) या फिर मोबाइल पर एक कोड आएगा (यदि आपने मोबाइल नंबर दिया है तो)। जैसी भी स्थिति हो, आप लिंक पर क्लिक करके या कोड भरकर आगे बढ़ सकते हैं। 

5. अब आप उस पेज पर पहुँच जाएँगे जहां आप अपना पासवर्ड बना सकते हैं। एक अच्छा सा पासवर्ड बनाने के बाद जैसे ही आप Continue करेंगे, आप Voter Portal में प्रविष्ट हो जाएँगे। अर्थात आपको एक Welcome screen दिखाई देगी। 

6. Welcome पर क्लिक करने के बाद आपको अपनी Profile बनानी होगी। यहाँ आपसे संबंधित सामान्य जानकारी पूछी जाएगी जिसे आप सही सही भरें और Submit करें । 

7. Submit करते ही आप उस जगह पहुँच जाएँगे जहां से आप अपने voter card में correction करने की प्रक्रिया की शुरुआत कर सकते हैं। ये स्क्रीन कुछ इस तरह की दिखाई देगी । 


8. यहाँ पहुँचने के बाद आप Correction in Voter ID ऑप्शन पर क्लिक करें और फिर अगली स्क्रीन पर Let's Start पर क्लिक करें। 

9. अब जो स्क्रीन आपको दिखाई देगी वो कुछ इस तरह की होगी। 


10. अब यदि आपके पास Voter ID Number नहीं है तो No, I don't have Voter ID number पर क्लिक करें, अन्यथा यदि है तो दूसरे ऑप्शन यानी YES, I have Voter ID number पर क्लिक करें। 

11. हम मानकर चल रहे हैं कि आपके पास पहले से ही Voter ID number है, जो कि आपके Voter Card यानी EPIC (Electoral Photo Identity Card) पर लिखा हुआ रहता है। 

12. अब जैसे ही आप YES वाले ऑप्शन पर क्लिक करेंगे, आपसे Voter ID number डालने को कहा जाएगा। यहाँ आप अपना वोटर आईडी नंबर भरें और फिर Fetch Details पर क्लिक करें। 


13. यदि आपका रिकॉर्ड पाया जाता है तो सिस्टम आपको We have found this record का मैसेज देगा। यह मैसेज आने के बाद Proceed पर क्लिक करें। 

14. Proceed पर क्लिक करने के बाद आपकी जानकारी प्रदर्शित होगी। यहाँ आप Save & Continue पर क्लिक करें। 

15. अब स्क्रीन पर आ रहे निर्देशानुसार अपना मोबाइल नंबर Update करें और आगे बढ़ जाएँ। 


16. अब उम्मीद है आपको कुछ इस तरह की (ऊपर) स्क्रीन दिखाई देगी। यहाँ आप जिस entry में भी  correction करना है उसे चुन सकते हैं। ध्यान रहे, आप एक बार में अधिकतम 3 चीजों में ही करेक्शन कर सकते हैं। 

17. करेक्शन के लिए entry चुनने के बाद जैसे ही आप Save & Continue पर क्लिक करेंगे, आपके सामने एक Form खुल जाएगा जहां आप अपनी सही सही जानकारी (Correct information) भर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आपको नाम में करेक्शन करवाना है तो आप इस form में अपने नाम की सही स्पेलिंग भरें - 


18. Form के सबसे नीचे आपको Choose File नाम का बटन दिखेगा जिसमें आपको Proof Document को स्कैन करके अपलोड करना होगा। यह document आपका PAN Card , आधार कार्ड आदि कुछ भी हो सकता है। 

19. आखिर में, जो इन्फॉर्मेशन आपने भरी है, उसे आपको एक बार Form 8 के रूप में review करने के लिए दिखाया जाएगा । इसे सबमिट करने के बाद आपका आवेदन जमा हो जाएगा और आपको एक reference number दे दिया जाएगा। इस reference number का उपयोग करके आप बाद में अपने आवेदन का status track कर सकते हैं। 

भारतीय चुनाव आयोग (Election Commission of India) के Voter Portal पर अपनी जानकारी में संशोधन (Correction) से संबन्धित इस जानकारी को लेकर यदि आपके कोई प्रश्न या सुझाव हों तो कमेंट में अवश्य बताएं। 

3/06/2021

thumbnail

आधार कार्ड में अपना फोटो कैसे अपडेट करें | How to update Photo in Aadhaar Card ?

किसी भी भारतीय नागरिक के लिए आधार कार्ड पहचान का सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है। यही कारण है कि हमें इसे हमेशा Update रखना चाहिए। कुछ चीज़ें हैं जिन्हें हमें समय समय पर अपडेट करने की आवश्यकता होती है जैसे कि पता (address), मोबाइल नंबर या फिर हमारा फोटो (photo)। 

समय के साथ हमारी शक्ल में भी परिवर्तन आते रहते हैं और ऐसे में हम जरूर चाहेंगे कि हमारे आधार कार्ड में हमारा latest photo हो। इसी तरह हमारा पता और मोबाइल नंबर भी कई बार बदल जाता है जब हम किसी नई जगह पर जाकर रहने लगते हैं। ऐसे में यदि हम आधार (Aadhaar) से जुड़ी सेवाओं का लाभ उठाना चाहते हैं तो हमें अपने आधार कार्ड को अपडेट रखना चाहिए। 

यदि आप अपने आधार कार्ड में अपना फोटो, बायोमेट्रिक्स, जेंडर, मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी आदि बदलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको किसी दस्तावेजी सबूत (Document Proof) की आवश्यकता नहीं है। ये बात खुद आधार जारी करने वाली संस्था UIDAI ने अपने ट्वीट के माध्यम से बताई है। 

जैसा कि उपरोक्त ट्वीट से स्पष्ट है कि आधार में ऊपर वर्णित कोई भी परिवर्तन कराने के लिए आपको किसी भी दस्तावेज़ या प्रमाणपत्र की आवश्यकता नहीं है। आपको करना सिर्फ इतना है कि अपना आधार कार्ड लेकर अपने नजदीकी आधार केंद्र तक जाना है और वहाँ वांछित परिवर्तन के लिए आवेदन कर देना है। लेकिन इसके पहले आपको आधार केंद्र से एप्पोइंटमेंट (appointment) लेना होगा । 

नजदीकी आधार केंद्र से Appointment लेने की सुविधा ऑनलाइन उपलब्ध है अर्थात इसके लिए आपको कहीं घर से बाहर नहीं जाना है, बल्कि इंटरनेट के माध्यम से खुद ही कर लेना है। Aadhaar Kendra से Online Appointment लेने की सम्पूर्ण प्रक्रिया बहुत ही सरल तरीके से इस वीडियो में समझाई गई है जो कि खुद UIDAI ने ही जारी किया है - 

एक बार एपाइंटमेंट मिलने के बाद आप नियत दिनांक को अपना आधार कार्ड लेकर आधार केंद्र पर जा सकते हैं और मनोवांछित परिवर्तन करा सकते हैं। 

(In the above article, I tried to answer the questions like - How to update or change your photo in Aadhaar Card  OR How to book online appointment for Aadhaar update ?

3/01/2021

thumbnail

UTS App : अनारक्षित टिकिट ऑनलाइन बुक करें | Railway App to book unreserved ticket online

भारतीय रेल विभाग आरक्षित बोगियों में टिकिट बुक करने की ऑनलाइन सुविधा अपनी वेबसाइट irctc.co.in के माध्यम से एक लंबे समय से देता आ रहा है। अपनी सुविधाओं में और विस्तार करते हुये रेल्वे अब अनारक्षित डिब्बों के टिकिट भी ऑनलाइन जरिये से मोबाइल एप के माध्यम से उपलब्ध कराने जा रहा है। 

अर्थात, अब यदि आप अनारक्षित टिकिट (अक्सर लोग जिसे जनरल टिकट ( General ticket) भी कहते हैं) लेकर ट्रेन में यात्रा करना चाहते हैं तो आपको स्टेशन पर जाकर टिकिट के लिए लंबी लंबी लाइनों में लगने की कोई जरूरत नहीं है। अब आप अपने मोबाइल से ही रेल्वे की UTS On Mobile App का उपयोग करते हुये अनारक्षित टिकिट (Unreserved ticket) बुक कर सकते हैं। 

कैसे करें ऑनलाइन अनारक्षित टिकट बुक (How to use Unreserved Ticketing System App)

  • इसके लिए सबसे पहले आपको Play Store पर जाकर UTS On Mobile application को डाउनलोड करना होगा। 
  • जब आप इस एप को खोलेंगे तब यह App आपसे GPS को यूज करने की परमीशन मांगेगी, जो आपको देनी होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि यात्री केवल स्टेशन के 5 किलोमीटर के दायरे में ही टिकट बुक कर पाएंगे। 
  • टिकिट बुक करने के पहले आपको App पर अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा जिसके लिए आपका मोबाइल नंबर, नाम, जन्मतिथि आदि जानकारी आपको भरनी होंगी। 
  • रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के अंत में आपके मोबाइल में एक OTP आएगा, जिसे भरने के बाद आपका आईडी और पासवर्ड जनरेट हो जाएगा। 
  • इस ID और Password का इस्तेमाल करके, बोर्डिंग स्टेशन के आसपास पहुँचकर  अनारक्षित टिकट बुक किया जा सकता है। 
  • पेमेंट के लिए वर्तमान में उपलब्ध लगभग सभी विकल्प उपलब्ध होंगे जैसे, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, पेटीएम आदि। 
  • UTS एप द्वारा एक साथ अधिकतम चार यात्रियों के लिए टिकट बुक किया जा सकेगा। 
  • यात्रा शुरू करने के अधिकतम 1 घंटे पहले से टिकट बुक किया जा सकेगा। 
  • टिकट सफलतापूर्वक बुक होने के बाद ट्रेन में टिकट चेकर द्वारा टिकट मांगे जाने पर एप के Show Ticket विकल्प में जाकर टिकट दिखाया जा सकता है। 
  • ध्यान रहे, यदि यात्री किसी कारण से मोबाइल में टिकिट दिखाने में असमर्थ रहता है तो उसे बिना टिकट माना जाएगा। 
  • इस एप से चुनिन्दा स्टेशनों पर  Platform ticket भी बुक किया जा सकता है। 

मूलतः UTS On Mobile की सुविधा 2018 में शुरू की गई थी लेकिन कुछ समय बाद में इसे बंद कर दिया गया था। अब 2021 में ये सुविधा पुनः शुरू हुई है जो इस कोरोना महामारी के समय में यात्रियों के लिए काफी राहत देने वाली होगी। 
इस एप के संबंध में और जानकारी के लिए रेल्वे की ये वैबसाइट देखें । 

2/23/2021

thumbnail

e-Adhaar क्या है, इसे कैसे डाउनलोड करें, क्या है फायदा ?

e-Aadhaar क्या है ? What is e-Aadhaar ? 

आधार (Adhaar) कार्ड किसी भी भारतीय नागरिक के लिए पहचान का सबसे जरूरी और महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है। आज किसी भी सरकारी या गैर-सरकारी जगह पर  पहचान के प्रमाण के रूप में आधार कार्ड सर्वमान्य होने के साथ- साथ आवश्यक भी हो गया है। 

इतने महत्वपूर्ण दस्तावेज़ की सुरक्षा भी बहुत आवश्यक है। जेब में रखे रखे घूमने पर इसके खो जाने या दुरुपयोग होने की आशंका हमेशा बनी रहती है। इसीलिए आधार जारी करने वाली संस्था UIDAI ने आधार का एक electronic version जारी किया है जिसे e-Aadhaar के नाम से जाना जाता है। 

e-Adhaar को आप अपने मोबाइल में, जो कि हमेशा हमारे साथ ही रहता है, एक PDF फ़ाइल के रूप में save करके रख सकते हैं। यह फ़ाइल पासवर्ड द्वारा सुरक्षित होती है और इसे खोलकर आप किसी भी जगह अपनी पहचान के प्रमाण के रूप में दिखा सकते हैं। 

e-Aadhaar कैसे डाउनलोड करें ? How to download e-Aadhaar ?

e-Aadhaar को डाउनलोड करना बहुत आसान है। यहाँ हम आपको step-by-step बताते हैं कि आप इसे कैसे डाउनलोड कर सकते हैं। 
  1. सबसे पहले आपको अपने ब्राउज़र में UIDAI की वैबसाइट (https://uidai.gov.in) खोलनी है। 
  2. वैबसाइट खुलने के बाद आपको My Adhaar मेनू में जाकर Download Adhaar पर क्लिक करना है। 


  3. अब आपके सामने नीचे दी गई स्क्रीन खुलेगी जहां आप अपना आधार नंबर / Enrollment नंबर / या Virtual ID नंबर डालकर अपने आधार की electronic copy निकाल सकते हैं। यहाँ पर आपको Masked Aadhaar निकालने का ऑप्शन भी है। Masked आधार में आपके आधार नंबर के अंतिम चार अंक ही प्रदर्शित होंगे व शुरू के आठ अंक छुपे हुये रहेंगे। तो यदि आप Masked Adhaar निकालना चाहते हैं तो उस ऑप्शन को चेक करें अन्यथा छोड़ दें। 


  4. अंत में Captcha code भरें और Send OTP पर क्लिक करें। 
  5. Send OTP पर क्लिक करते ही आपके आधार से लिंक मोबाइल पर एक OTP आएगा । इस OTP को आपको भरना होगा। 


  6. OTP भरने के बाद उसके नीचे एक सर्वे फॉर्म आ सकता है। इसमें आप अपनी इच्छानुसार जानकारी चुन कर भर दें और आखिर में सबसे नीचे आकर Verify And Download पर क्लिक कर दें। (Click करने के पहले यदि आपने अपने कम्प्युटर में कोई download manager software डाला हुआ है तो उसे disable कर दें क्योंकि कभी कभी उसकी वजह से आधार डाउनलोड होने में समस्या होती है। )
  7. अब यदि आपने उपरोक्त सभी steps को सफलतापूर्वक पूरा कर लिया है, और जानकारी सही सही भरी है तो आपका e-Adhaar आपके कम्प्युटर में डाउनलोड हो जाएगा। 

Password for e-Aadhaar ? How to open e-Adhaar file ?

सफलतापूर्वक डाउनलोड होने के बाद अब आवश्यकता है e-Aadhaar फ़ाइल को खोलने की। ये एक PDF फ़ाइल के रूप में होता है जो Password Protected होती है। इसका पासवर्ड पहले से फिक्स होता है जो कि आपके नाम के शुरू के चार अक्षर (Capital Letters में) और आपके जन्मवर्ष को मिलाकर बना होता है। 

उदाहरण के लिए यदि आपका नाम Ganesh Lal है और आपका जन्म 1996 में हुआ है तो आपका पासवर्ड  GANE1996 होगा।

यदि उक्त जानकारी आपको उपयोगी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें और अपने विचार कमेंट के रूप में अवश्य दें। 

2/18/2021

thumbnail

ऑनलाइन मतदाता सूची में अपना नाम कैसे चेक करें ?

 भारत में 18 साल की आयु प्राप्त होने के बाद व्यक्ति को मताधिकार (right to vote) मिल जाता है। इसके लिए आपका नाम मतदाता सूची या voter list में होना आवश्यक है।  नए मतदाताओं (voters) को मतदाता सूची (voter list) में जोड़ने का काम चुनाव आयोग करता रहता है। यह काम चुनाव आयोग द्वारा अभियान चलाकर door-to-door जाकर किया जाता है साथ ही स्थानीय चुनाव कार्यालय में जाकर भी कोई अपना नाम voter list में जुड़वा सकता है।

कभी कभी हमें यह जाँचने की जरूरत होती है कि हमारा नाम वोटर लिस्ट में जुड़ा हुआ है भी या नहीं । ऐसी आवश्यकता अक्सर दो स्थितियों में पड़ती है। एक, या तो आपने नए मतदाता के रूप में अपना पंजीकरण (registration) कराया हो या फिर आप किसी नई जगह पर जाकर बस गए हों और वहाँ अपना नाम मतदाता के रूप में जुड़वाया हो।

कारण या परिस्थिति कोई भी हो, यदि आप voter लिस्ट में अपना नाम चेक करना चाहते हैं कि आपका नाम उसमें है या नहीं, तो अब ये बेहद आसान है। इसके लिए आपको न तो चुनाव कार्यालय जाने की जरूरत है न ही किसी सरकारी अधिकारी या कर्मचारी से संपर्क करने की जरूरत है। ये काम आप घर बैठे internet के माध्यम से अपने कम्प्युटर से ही कर सकते हैं।

इसके लिए आपको चुनाव आयोग की वैबसाइट https://electoralsearch.in/ पर जाना होगा। यहाँ पर आपको एक फॉर्म मिलेगा जो कुछ इस तरह का होगा -


इस फॉर्म के जरिये वोटर लिस्ट में अपना  नाम   खोजने के दो तरीके  हैं -

(1) विवरण द्वारा खोज (Search by details)
(2) पहचान पत्र  क्रमांक द्वारा खोज (Search by EPIC No॰)

यदि आपके पास मतदाता पहचान पत्र या Voter Identity Card (EPIC) है तो आप दूसरे option पर क्लिक करें अन्यथा पहले ऑप्शन पर क्लिक करें।

यदि आप विवरण द्वारा नाम जाँचना चाह रहे हैं तो इस फॉर्म में अपना नाम, पिता/पति का नाम, उम्र, लिंग, राज्य, जिला और विधानसभा क्षेत्र निर्दिष्ट स्थानों पर सही - सही भरें। अंत में फॉर्म के सबसे नीचे दिये गए code (captcha) को ध्यानपूर्वक भरें और Search पर क्लिक कर दें। यदि आपने जानकारी सही ढंग से भरी है और यदि आपका नाम वोटर लिस्ट में है तो वह इस फॉर्म के नीचे परिणाम के रूप में सामने आ जाएगा।

मतदाता पहचान पत्र क्रमांक (EPIC No॰) से मतदाता सूची में अपना नाम खोजना और भी आसान है। यदि आपके पास वोटर कार्ड है तो इसी ऑप्शन का प्रयोग करें। इसमें आपको सिर्फ अपना वोटर कार्ड नंबर (EPIC number)  डालकर अपना राज्य चुनना होता है । अंत में कोड भरकर "खोजें Search" पर क्लिक करने से आपका नाम परिणाम के रूप में निकल कर सामने आ जाता है (यदि वह वोटर लिस्ट में है तो)

कई बार वोटर लिस्ट में नाम की स्पेलिंग सही नहीं भरी होती है, ऐसी स्थिति में उपरोक्त तरीकों से नाम खोजने पर वह सामने नहीं आता है। ऐसी स्थिति में आप अपने ward या मोहल्ले की समूची वोटर लिस्ट भी ऑनलाइन देख सकते हैं। सम्पूर्ण वोटर लिस्ट देखने की प्रक्रिया इस आर्टिकल में समझाई गई है।

thumbnail

बिना प्रोग्रामिंग जाने अपना Blog बनाएँ और पैसे कमाएं

 आज के दौर में बेरोजगारी हमारे देश की ही नहीं बल्कि दुनिया की बहुत बड़ी समस्या है। सरकारों के पास इतनी नौकरियाँ हैं नहीं और प्राइवेट सैक्टर की भी अपनी एक सीमा है। ऐसे में एक ही विकल्प बचता है और वह है स्वरोजगार।

Why do you need a Blog ?


लेकिन स्वरोजगार शुरू करने के लिए पैसा चाहिए होता है जो सबके पास नहीं होता। हम खुशकिस्मत हैं कि हम इंटरनेट के युग में जी रहे हैं और इस इंटरनेट ने हमें बेहद ही कम लागत में या यूं कहिए कि लगभग फ्री में रोजगार के अनेकों तरीके मुहैया कराये हैं। इन्हीं तरीकों में से एक है अपना ब्लॉग (Blog) बनाना।

आज की तारीख में Blogging एक बेहद आकर्षक पेशा बन कर उभरा है और हजारों युवा अपना Blog बनाकर हजारों से लेकर लाखों रुपये हर महीने तक की कमाई कर रहे हैं। यदि आपकी लेखन में रुचि है, भाषा-शैली पर आपकी अच्छी पकड़ है और किसी विषय-विशेष का आपको ज्ञान है तो फिर आप भी उन युवाओं की तरह अपना blog बनाकर अच्छी कमाई कर सकते हैं।

What is a Blog ?


Blog एक तरह की website होती है जिस पर आप अपने विचार, अपना ज्ञान लेख के रूप में लिखकर लोगों के सामने प्रस्तुत कर सकते हैं। इस ब्लॉग पर विज्ञापनों और affiliate marketing के जरिये कमाई की जा सकती है जिसके बारे में मैं आपको इस लेख में आगे बताऊंगा।

एक सफल ब्लॉग बनाने के लिए आपके भीतर लेखन - कौशल का होना अति आवश्यक है। यदि आपकी लेखन में रुचि है, आपको पढ़ना लिखना पसंद है तो फिर यह क्षेत्र आपके लिए है।

Is programming knowledge necessary to make a Blog ?

बहुत से लोग सोचते हैं कि अपना Blog बनाने के लिए computer programming का ज्ञान होना आवश्यक होता होगा, लेकिन ऐसा बिलकुल भी नहीं है।

अपना Blog बनाने के लिए आपको सिर्फ computer और internet चलाने का basic ज्ञान होना पर्याप्त है। हाँ, यदि आपको internet पर प्रयुक्त होने वाली Languages जैसे कि HTML, CSS, JavaScript आदि का थोड़ा बहुत ज्ञान है तो वह आपके लिए सहायक ही सिद्ध होगा इसमें कोई शक नहीं, परंतु इनका ज्ञान होना आवश्यक बिलकुल नहीं है ।

What is a domain name ?


अपना Blog या Website बनाने के लिए जिस सबसे पहली चीज़ की आवश्यकता आपको होगी वह है domain name । आपका domain name ही इंटरनेट की दुनिया में आपकी पहचान है। जैसे कि हमारी वैबसाइट का domain है gustakhimaaf॰com । तो ब्लॉग बनाने की दिशा में आपका सबसे पहला काम होगा अपने लिए एक अच्छे domain name का चुनाव करना।

एक बार आपने अपने Blog के लिए एक अच्छा सा domain name सोच लिया उसके बाद आपका अगला कदम है उसे रजिस्टर करवाना। इसके लिए आपको किसी domain registrar की site पर जाना होगा। कुछ प्रमुख और प्रसिद्ध डोमैन रजिस्ट्रेशन करने वाली वेबसाईटें हैं - godaddy॰com, resellerclub॰com, namecheap॰com आदि।

Web Hosting

अपना domain name रजिस्टर कराने के बाद अब आपको एक Web hosting provider चुनना होगा। ये आपको अपने server पर आपकी blog files को save करने के लिए space उपलब्ध कराएगा। कई कंपनियाँ domain registration और web hosting दोनों एक साथ उपलब्ध करवाती हैं जैसे कि godaddy॰com । कुछ प्रमुख web hosting providers हैं Hostgator, Bluehost आदि । आप इनमें से किसी को भी अपनी जरूरत और उनकी कीमत के आधार पर चुन सकते हैं।

Pointing your domain to web host

जब आप अपने ब्लॉग के लिए Web hosting plan खरीदेंगे तो आपकी Web Hosting Company अपने सर्वर पर आपका एक account बनाएगी और आपको उस account से संबन्धित जानकारी एक ईमेल के माध्यम से भेजेगी। इस ईमेल को आपको बहुत संभालकर रखना है। इस Email में आपके Web Hosting Account के User Name और Password के साथ साथ एक और महत्वपूर्ण जानकारी होती है और वह होती है Name Server। आमतौर पर ये दो होते हैं और कुछ ऐसे दिखते हैं -

ns1॰sitename॰com
ns2॰sitename॰com

Name Servers की इस जानकारी को आपको अपने Domain Control Panel में भरना होता है तभी आपका Domain आपकी Web hosting से जुड़ता है। पहली बार blog बनाने जा रहे लोगों के लिए ये काम जरा सा technical हो सकता है । ऐसी स्थिति में आप इसके लिए अपने Domain Name Registrar या Web Hosting Company के support Centre से सहायता ले सकते हैं।

Installing WordPress

जैसे ही आप अपने Domain में Nameservers की जानकारी भर देंगे उसके कुछ ही घंटों में आपका setup ब्लॉग बनाने के लिए तैयार हो जाएगा। आप अपने computer के browser में अपना domain name डालकर चेक कर सकते हैं और देख सकते हैं कि आपकी website पर अब आपकी Web Hosting Company द्वारा डाला गया default page दिखाई देने लगा है।

Default page दिखाई देने के बाद आप अपना ब्लॉग बनाना शुरू कर सकते हैं। इसके लिए आपको सबसे पहले अपने सर्वर पर WordPress इन्स्टाल करना होगा। WordPress एक Content Management System है जो आपको programming आदि के झंझटों से बचाता है। एक बार इसे install करने के बाद इसका इस्तेमाल किसी Word processor software की तरह कर सकते हैं।

WordPress इन्स्टाल करने के लिए आपको अपने web hosting account के Control Panel में जाना होगा। इसकी जानकारी आपको Web host द्वारा भेजी गई ईमेल में मिल जाएगी। आमतौर पर Web Host कंपनियाँ cPanel नाम कंट्रोल पेनल इस्तेमाल करते हैं। इसमें आपको WordPress install करने के लिए लिंक मिल जाएगी।

उस लिंक पर क्लिक करके  दिये निर्देशों के अनुसार जानकारी भरते हुये WordPress इन्स्टाल कर लीजिये। Wordpress इन्स्टाल करते समय भी आपको एक यूजरनेम और पासवर्ड चुनना होगा। ये ऐसा चुनिये जो आपको याद भी रहे और आसान भी न हो ।

और बस, अब आप ब्लॉगिंग के लिए लगभग तैयार हैं। अपने WordPress Admin URL पर जाइए और अपना यूजरनेम और पासवर्ड डालकर लॉगिन कीजिये। आपको कुछ इस तरह की स्क्रीन मिलेगी -


इस Dashboard में Left Panel में दिये गए menu options का उपयोग करके आप पोस्ट्स और pages बना सकते हैं। आगे आने आने वाली पोस्टों में इस संबंध में विस्तार से जानकारी प्रदान की जाएगी।

thumbnail

Four Day Work Week होने वाला है भारत में ?

 सप्ताह में सिर्फ 4 दिन काम और 3 दिन आराम ! बड़ी ही सुखद कल्पना है लेकिन मीडिया सूत्रों की मानें तो जल्दी ही यह कल्पना भारत में हकीकत का रूप लेने वाली है। केन्द्रीय श्रम मंत्रालय कामकाजी लोगों के लिए जल्दी ही Four Day Work Week की घोषणा कर सकता है। इसके लिए श्रम और रोजगार मंत्रालय नए श्रम कानून पर काम कर रहा है ।


नए आने वाले कानून के मुताबिक अब सिर्फ 4 दिन काम के रहेंगे और 3 दिन का वीकएंड रहेगा। हालांकि पेच यह है कि काम के घंटों में कोई तबदीली नहीं होगी। अर्थात अभी जो एक व्यक्ति को प्रति सप्ताह 48 घंटे काम करना पड़ता है वह फिर भी करना पड़ेगा। नए कानून में रोजाना काम के घंटे 12 हो जाएँगे जो अभी तक 8 ही थे।

इस हिसाब से अब कंपनियों में अभी तक काम के लिए जो 8-8 घंटे की तीन शिफ्ट हुआ करती थीं, वो अब घटकर सिर्फ दो रह जाएंगी। नए कानून आने के बाद शिफ्ट 8 घंटे के बजाए 12 घंटे की होने लगेगी।

वैसे देखा जाये तो भारत में 4 दिन के सप्ताह की संकल्पना भले ही नई मालूम होती हो लेकिन विश्व के लिहाज से ये नई नहीं है। माइक्रोसॉफ़्ट जैसी कंपनी अपने जापान ऑफिस में इस को पहले ही आजमा चुकी है और उसके परिणाम काफी उत्साहवर्धक रहे हैं। वहाँ Four Day Work Week  लागू  के बाद कर्मचारियों की productivity में करीब 40%  तक की वृद्धि   दर्ज    की   गई थी ।

World Economic Forum ने भी चार दिन के सप्ताह की योजना को कंपनियों के लिए काफी किफ़ायती बताया है। एक अनुमान के अनुसार इस योजना से कंपनियाँ अपने खर्चे में अपने सालाना टर्न ओवर के लगभग 2% तक की बचत कर सकती हैं।

thumbnail

Tax और Cess में क्या अंतर होता है ?

 What is the difference between Tax and Cess ?

दुनिया के लगभग सभी देशों की सरकारें अपने नागरिकों से किसी न किसी तरह का कर (Tax) लेती हैं। हमारे देश में Income Tax और Goods and Service Tax (GST) इसका अच्छा उदाहरण हैं। इन करों से प्राप्त राशि का उपयोग सरकारी खर्चों को उठाने व देश में जनहित के कार्यों को संपादित करने में किया जाता है।


लेकिन यदि आपने ध्यान दिया होगा तो पाया होगा कि कभी कभी हमें tax के अलावा एक अन्य प्रकार का कर (उपकर) भी देना पड़ता है जिसे Cess के नाम से जाना जाता है। Health and Education Cess, Agriculture Cess जैसे शब्द आपने जरूर सुने होंगे। तो आपके दिमाग में ये प्रश्न जरूर उठता होगा कि ये Cess क्या बला है ? इसे सीधे सीधे टैक्स ही क्यों नहीं कहा जाता है ? आखिर भुगतान तो हम इसका टैक्स की तरह से करते ही हैं न !

तो इसका उत्तर यह है कि दरअसल Tax और Cess में अंतर (difference) होता है।


विभिन्न प्रकार के Taxes (जैसे Income Tax, GST, Central Excise आदि) के जरिये सरकार के पास जो राशि एकत्र होती है उसे एक समेकित फ़ंड में इकट्ठा किया जाता है और फिर उसे बजट में प्रस्तावित किए गए अनुसार विभिन्न कार्यों या उद्देश्यों में खर्च किया जाता है। ये कार्य या उद्देश्य कुछ भी हो सकते हैं।

इसके बिलकुल अलग, Cess किसी एक विशेष क्षेत्र या मद के विकास के लिए इकट्ठा किया जाता है और इसके जरिये एकत्र हुआ सारा पैसा उसी मद में खर्च किया जाता है। ये मद ज़्यादातर समाज कल्याण से जुड़े होते हैं । Cess का पैसा किसी अन्य कार्य या उद्देश्य में खर्च नहीं किया जा सकता है, जबकि tax के साथ ऐसा नहीं है।

Tax और Cess में एक और अंतर होता है स्थायित्व का । Tax ज़्यादातर स्थायी होते हैं जैसे कि income tax, GST आदि। आप जब तक income करते रहेंगे तब तक टैक्स देते रहेंगे या व्यापार करते रहेंगे तो GST देते रहेंगे। इसके उलट Cess किसी विशेष उद्देश्य की पूर्ति होने तक ही लागू रहते हैं। उस उद्देश्य की पूर्ति हो जाने पर (पर्याप्त राशि इकट्ठा हो जाने पर) इन्हें हटा दिया जाता है।

thumbnail

क्या है My Stamp Scheme, जिसके तहत आप डाक टिकट पर अपना फोटो भी छपा सकते हैं

 यूं तो डाक टिकट सरकार जारी करती है जिन पर महापुरुषों या महत्वपूर्ण प्रतीकों की तस्वीरें छपी होती हैं। परंतु यदि कोई आम आदमी, जिसने अपनी ज़िंदगी में कोई ऐसा बड़ा काम नहीं किया है कि सरकार उसके ऊपर डाकटिकट जारी करने का सोचे, वो अपनी तस्वीर डाक टिकट पर छपवाना चाहे तो  क्या करे ? तो इसके लिए भी उपाय है और वो है भारतीय डाक विभाग की My Stamp स्कीम।


My Stamp Scheme डाक विभाग की एक पुरानी योजना है हालांकि बहुत कम लोग इसके बारे में जानते हैं। इस योजना के तहत कोई भी आम आदमी अपनी फोटो डाकटिकट पर छपवा सकता है और वो भी बहुत ही कम कीमत में... मात्र 300 रुपये में ! जी हाँ !

मात्र 300 रुपये के मामूली शुल्क में आप अपनी फोटोयुक्त 12 डाकटिकट प्राप्त कर सकते हैं जो पूरी तरह से मान्य होंगे अर्थात आप इनका उपयोग देश के किसी भी कोने में अपनी डाक भेजने में भी कर सकते हैं। इसके अलावा आप इनका उपयोग किसी को गिफ्ट देने में या अपने संग्रह में रखने के लिए तो कर ही सकते हैं।

इसके लिए आपको अपने नजदीकी Post Office में संपर्क करना होगा और वहाँ जाकर My Stamp योजना की जानकारी लेनी होगी। या फिर आप भारतीय डाक विभाग की वैबसाइट indiapost.gov.in पर जाकर इस योजना की और जानकारी ले सकते हैं।

thumbnail

आधार नंबर है तो घर बैठे खुद बना सकते हैं अपना PAN कार्ड

 वित्तमंत्री निर्मला सीतारामन ने हाल ही में एक ऐसी सुविधा लॉंच की है जिससे PAN नंबर लेना अब बेहद आसान हो जाएगा। अभी तक PAN कार्ड बनवाने के लिए जहां application form भरना होता था, डॉक्युमेंट्स देने पड़ते थे, फीस लगती थी और सबसे परेशानी वाली बात agents के चक्कर लगाने पड़ते थे। लेकिन ये सब बातें अब इतिहास होने वाली हैं। अब आप घर बैठे खुद ही अपना PAN Card नंबर बना सकते हैं बिना किसी परेशानी के।


क्या क्या चाहिए होगा ?

घर बैठे अपना e-PAN बनाने के लिए आपको दो चीजों की जरूरत होगी। एक तो अपना Aadhar card और दूसरा मोबाइल नंबर। यहाँ यह ध्यान रखने योग्य बात है कि आपका मोबाइल नंबर आपके आधार से लिंक होना जरूरी है।

कैसे बनेगा e-PAN ?

अपना PAN नंबर ऑनलाइन generate करने के लिए नीचे दी गई प्रक्रिया अपनाएं - 

  1. सबसे पहले आयकर विभाग की e-filing website पर जाएँ।
  2. 'Get New PAN' पर क्लिक करें।
  3. नियत स्थान पर अपना 12 अंकों का आधार नंबर प्रविष्ट करें ।
  4. इसके बाद आपके मोबाइल पर एक OTP आएगा उसे भी यथा स्थान पर प्रविष्ट करें।
  5. इसके बाद एक acknowledgement number जनरेट होगा। इसे नोट कर लीजिये । यदि आपके e-PAN के allotment में विलंब हो रहा है तो इससे आप status track कर सकते हैं।
  6. अन्य जानकारियाँ भी यथास्थान भरें और submit करें।
  7. इसके बाद पोर्टल आपका e-PAN जनरेट कर देगा जिसे आप download कर सकते हैं।

यदि आपका email id भी aadhar number के साथ registered है तो e-PAN की कॉपी आपके e-mail में भी पहुँच जाएगी। यह पूरी प्रक्रिया न सिर्फ Paperless है बल्कि इसमें आपसे कोई फीस भी नहीं ली जाती, अर्थात यह पूरी तरह से free है। इसके अलावा आपको अब PAN Card बनवाने के लिए agents के दफ्तरों के चक्कर लगाने की भी जरूरत नहीं है। बस अपने इंटरनेट कनैक्शन की सहायता से घर बैठे ही आप आवेदन कर सकते हैं और अपना e-PAN download कर सकते हैं।