Showing posts with the label folk tales in hindiShow all

सौदागर की बेटियाँ - एक लोक कथा | Saudagar ki betiyaan - Lok Katha in Hindi

बहुत पुरानी बात है। एक नगर में एक सौदागर रहता था। उसकी तीन बेटियाँ थीं। तीनों देखने में अत्यंत सुंदर थीं, एकदम राजकुमारियों की तरह। सौदागर…


आलसी गधे को सबक - एक लोक कथा | Aalasi gadhe ko sabak - ek lok katha

किसी गाँव में नमक का एक व्यापारी रहता था। उसके पास एक गधा था। व्यापारी रोज़ अपने गोदाम से दुकान तक नमक ले जाने के लिए गधे का इस्तेमाल किया क…


हित और अहित - एक छोटी सी लोक कथा | Hit aur ahit - A short folk tale in Hindi

प्राचीन काल की बात है, सुधर्म नाम का एक राजा था। एक बार उसके सिपाही एक परदेशी को पकड़कर उसके दरबार में न्याय के लिए ले आए। उस परदेशी पर आरोप…


सोने का पिंड - रूसी लोक कथा | Sone ka Pind - A Russian folk tale in Hindi

बहुत पुरानी बात है, रूस में एक गाँव था जिसके ज़्यादातर निवासी गरीब किसान थे। गाँव में केवल एक ही आदमी अमीर था और वह था उस गाँव का जागीरदार।…


राजा के नए कपड़े - स्पेनिश लोक कथा | Raja ke naye kapade - A folk tale in Hindi from Spain

('राजा के नए कपड़े' नाम की यह कहानी एक स्पेनिश लोक कथा पर आधारित है। इसे हेंस क्रिश्चियन एंडरसन ने लिखा था। ) बहुत दिनों पहले एक रा…


सच्चे आलसी - एक छोटी सी लोक कथा | Sachche Aalasi - A short folk tale in Hindi

पुराने जमाने में एक बड़ा दयालु राजा था। वह हमेशा प्रजा के सुख-दुख का खयाल रखता और उन्हें कोई कष्ट न होने देता था। किन्तु धीरे-धीरे राजा की …


पड़ोसी - एक लोक कथा | Padosi - Ek Lok Katha

एक धनी व्यक्ति शहर के कोलाहल से बहुत उकता गया इसलिए उसने अपने रहने के लिए शहर की भीड़भाड़ से बहुत दूर एक नया मकान बनवाया। वह बहुत शांतिप्रिय …


कंजूस का सोना - एक लोक कथा | Kanjoos ka sona - A folk tale in Hindi

किसी गाँव में एक अमीर आदमी रहता था। वह जितना अमीर था, उतना ही कंजूस भी था। अपने धन को सुरक्षित रखने का उसने एक अजीब तरीका निकाला था। उसने अ…


सबूत - एक छोटी सी लोक कथा | Saboot - A folk tale in Hindi

प्राचीन काल में मायापुरी नामक एक नगर व्यापार के लिए बहुत प्रसिद्ध था। दूर -दूर से लोग व्यापार के सिलसिले में इस नगर में आया करते थे। एक बा…


क्या भला क्या बुरा - चीनी लोक कथा | Kya Bhala Kya Bura - A Chinese folk tale in Hindi

बहुत पुरानी बात है, चीन के एक गाँव में एक बूढ़ा रहता था. वह दार्शनिक स्वभाव का आदमी था और उसकी बातें अक्सर उसके गांववालों को समझ में नहीं आत…


गधे का सच - एक लोक कथा | Gadhe ka Sach - A folk tale in Hindi

बात उन दिनों की है जब जानवर भी इंसानों की तरह बोला करते थे.  किसी गाँव में रामू और दीनू नाम के दो भाई रहा करते थे. दोनों भाइयों के स्वभाव म…


बरगद की गवाही - एक लोक कथा | Baragad ki gawahi - Ek Lok Katha

किसी गाँव में हीरालाल नाम का एक आदमी रहता था. एक साल ओलावृष्टि होने के कारण उसकी फसल बर्बाद हो गई और वह धनाभाव से जूझने लगा. अगले साल खेती …


मुनीम की बुद्धिमानी - एक लोक कथा | Muneem ki Buddhimani - Ek Lok Katha

किसी जमाने में गुजरात में एक सेठजी रहा करते थे। उनका काफी बड़ा व्यापार था और अपने नगर में उन्हें नगरसेठ का दर्जा प्राप्त था। उनकी बेटी जब वि…


चतुर किसान - एक छोटी सी लोक कथा | Chatur Kisaan - A folk tale in Hindi

एक दिन एक किसान अपना खेत जोत रहा था। उसी समय उस देश का राजा उस रास्ते से गुजरा। किसान को देखकर राजा ठहर गया और उसने किसान से पूछा - "क…


समुद्र का खारा पानी - जापानी लोक कथा | Samudra ka khaara paani - A Japanese Folk tale

पुराने जमाने की बात है, एक गाँव में दो भाई रहते थे। समय के साथ बड़ा भाई तो धनी हो गया था किन्तु छोटा भाई कंगाल। एक दिन ऐसा भी आया, जिस दिन …


नगाड़े का इन्साफ - लोक कथा | Nagaade ka insaaf - A folk tale in Hindi

चीन के एक गाँव में दो किसान मित्र रहते थे. दोनों बुजुर्ग हो चुके थे और उनकी आर्थिक स्थिति भी लगभग समान थी, अर्थात, दोनों गरीब थे. एक बार दो…


उल्लू की भाषा - लोक कथा | Ullu ki bhasha - Lok katha in Hindi

एक बार एक राजा था. शुरू शुरू में उसके राज्य में प्रजा बहुत सुखी थी क्योंकि वह सब तरह से एक योग्य राजा था, लेकिन समय के साथ धीरे - धीरे वह आ…


विजेता - एक लोक कथा | Vijeta - A Folk tale in Hindi

पुराने ज़माने में एक राजा था. उसकी एक बेटी थी. बड़ी ही सुन्दर. उन दिनों में जितने भी राजकुमार थे, वे लगभग सब के सब उसे अपनी रानी बनाने की चाह…


धूर्तनगरी - हिन्दी लोक कथा | Dhoortnagari - Hindi Lok Katha

किसी जमाने में घोड़ों का एक व्यापारी था. उसने इस व्यापार में बहुत धन कमाया और अपने बेटे धर्मसेन को भी यही काम सिखाया. जब वह वृद्ध हो गया तब …


गीदड़ की राजनीति - लोक कथा | A Folk story in Hindi

एक बार किसी गीदड़ ने जंगल में एक मरा हुआ हाथी देखा. उसे देखकर गीदड़ का रोम-रोम प्रसन्न हो गया. वह सोचने लगा - "यह मुझे मेरे भाग्य से मि…