Showing posts with the label panchtantra storyShow all

बुद्धिमान वन हंस - पंचतंत्र की कहानी | Buddhiman Van Hans - A Panchatantra Story

किसी वन में एक बहुत ही विशाल, ऊँचा और सघन वृक्ष था. इस वृक्ष के ऊपर कई वन-हंसों ने लम्बे समय से अपना डेरा बना रखा था. वे दिन में वन में जाक…


स्वार्थ का परिणाम - पंचतंत्र की कहानी | Swarth Ka Parinam - A Panchatantra Story

प्राचीन काल में किसी नगर में धर्मबुद्धि और पापबुद्धि नामक दो युवक रहते थे. दोनों ही गरीब थे और आपस में मित्र थे, किन्तु स्वभाव दोनों के अलग…


दुर्जन की मित्रता - पंचतंत्र की कहानी | Durjan ki Mitrata - A Panchatantra Story in Hindi

किसी वन में मदोत्कट नामक एक सिंह रहता था. चीता, कौआ और एक गीदड़ उसके प्रिय अनुचर थे.  एक दिन सिंह अपने अनुचरों के साथ एक ऊँचे स्थान पर बैठा …


मूर्ख विद्वान् - पंचतंत्र की कहानी | Moorkh Vidwaan - A Panchatantra story

बहुत समय पहले किसी नगर में चार मित्र रहते थे. बचपन से ही साथ-साथ खेलते, जहां भी जाते साथ ही जाते. बड़े हुए तो तीन मित्र तो विद्या अध्ययन करक…


बोलती गुफा - पंचतंत्र की कहानी | Bolti Gufa - A Panchatantra Story

किसी वन में एक सिंह रहता था. अपनी युवावस्था में वह बहुत बलशाली था और अपने भोजन के लिए तुरंत शिकार कर लिया करता था किन्तु अब समय के साथ वह ब…


बुद्धि बड़ी बलवान - पंचतंत्र की कहानी | Buddhi badi balwaan - A Panchatantra Story in Hindi

किसी वन में भासुरक नाम का एक सिंह रहता था. वह बड़ा ही क्रोधी और अत्याचारी था. वह अपनी शक्ति के मद में इतना चूर था कि सिर्फ भोजन के लिए ही जा…


झूठ का कारोबार - पंचतंत्र की कहानी | Jhooth ka karobar - A Panchatantra Story

जंगल में एक तालाब था और उसके किनारे एक सारस रहता था. तालाब में ढेर सारी मछलियाँ थीं. सारस प्रतिदिन तालाब के किनारे बैठकर मछलियों को खाया कर…


चार मित्र - पंचतंत्र की कहानी | Char Mitra - Panchatantra Stories in Hindi

प्राचीन काल की बात है एक हरे भरे वन में चार मित्र रहते थे - चूहा, कौआ, हिरन और कछुआ.  चारों मित्र जानवरों की अलग अलग प्रजातियों के होने के…


कछुए की चाल - पंचतंत्र की कहानी | Kachhuye Ki Chaal - A Panchatantra Story

किसी जंगल में एक विशाल तालाब के किनारे एक पेड़ था. उस पेड़ पर बगुलों का एक झुण्ड रहता था. बगुलों के रहने के लिए यह स्थान बहुत उपयुक्त था क्यो…


रंगा सियार - पंचतंत्र की कहानी | Ranga Siyar - A Panchatantra Story

एक बार भोजन की तलाश में घूमता घामता एक सियार नगरीय क्षेत्र में आ गया. नगर के कुत्तों ने जैसे ही उसे देखा तो अपने स्वभाव के अनुसार उस पर भौं…


गवैया गधा - पंचतंत्र की एक कहानी | Gawaiya Gadha - A Panchatantra Story

एक गधा और गीदड़ आपस में मित्र थे. गधा एक धोबी के यहाँ दिन भर काम करता और रात होने पर धोबी उसे स्वतंत्र छोड़ देता. तब गधा और गीदड़ मिलकर रात भर…


नगर सेठ और राजा का नौकर - पंचतंत्र की एक कहानी | A Panchatantra Story in Hindi

प्राचीन काल की बात है, वर्धमान नगर में आभूषणों का एक बड़ा कारोबारी रहता था, नाम था दन्तिल सेठ. वह बड़ा व्यवहारकुशल था और व्यापार भी पूरी नैत…


बातूनी कछुआ - पंचतंत्र की एक कहानी | Batuni Kachhua - A Panchantantra Story

एक तालाब में एक कछुआ रहता था. कछुआ बड़ा बातूनी था. वह जब तक किसी से बात न कर लेता, उसका भोजन हजम नहीं होता था. एक बार जब वह बोलना शुरू करता…