Showing posts with label teddy bear story. Show all posts

5/09/2021

thumbnail

‘टेडी बियर’ के अस्तित्व में आने की कहानी, इसके पीछे है एक रोचक किस्सा

 ‘टेडी बियर’ वह प्यारा खिलौना है जो बच्चों को तो बहुत पसंद होता ही है बड़ों को भी खूब भाता है. हर उस घर में जिसमें बच्चे होते हैं, छोटा या बड़ा एक टेडी बियर तो होता ही है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि ‘टेडी बियर’ को टेडी बियर क्यों कहते हैं? इसका यह नाम कैसे पड़ा और यह खिलौना कब और कैसे अस्तित्व में आया ? इसके पीछे भी एक रोचक किस्सा है जिसका सम्बन्ध एक पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति से है.

अमरीका के 26वें राष्ट्रपति थे थियोडोर ‘टेडी’ रुजवेल्ट, जो एक बार सन 1902 में मिसिसिपी राज्य के गवर्नर के न्यौते पर जंगल में भालू का शिकार करने गए. राष्ट्रपति के अमले में लोगों के अलावा कई शिकारी कुत्ते और घोड़े शामिल थे.

जंगल में तम्बू लगा दिए गए और भालू की तलाश शुरू हुई.  पूरे दिन ढूंढ़ते रहे पर एक भी भालू कहीं नहीं दिखा. दूसरे दिन फिर तलाश शुरू हुई लेकिन फिर भी जंगल में एक भी भालू नजर नहीं आया. राष्ट्रपति रूजवेल्ट और उनके साथ के दूसरे आला अफसर मायूस हो चले थे.

राष्ट्रपति की टीम के कुछ सदस्यों को यह अच्छा नहीं लगा और उन्होंने सोचा कि यदि राष्ट्रपति इस तरह बिना शिकार किये यहाँ से चले गए तो उनकी बहुत बदनामी होगी. यही सोचकर कुछ सदस्य फिर से जंगल में गए और कहीं से एक बूढ़े से भालू को पकड़ लाये और पेड़ से बाँध दिया.

राष्ट्रपति से कहा गया कि वे इस पर गोली चला कर अपना शिकार का शौक पूरा कर सकते हैं. परन्तु रूजवेल्ट को उस भालू पर दया आ गई और उन्होंने उस पर गोली चलाने से इनकार कर दिया. पेड़ से बंधे भालू को देखकर वे बोले, “मैं शिकार के लिए लगभग पूरे अमेरिका में घूमा हूं. मुझे गर्व है कि मैं एक शिकारी हूं, लेकिन एक बूढे हो चुके असहाय भालू को मारकर मुझे गर्व की अनुभूति नहीं होगी, वह भी तब जब यह पेड़ से बंधा हुआ हो”.

राष्ट्रपति की शिकार करने वाली टीम में कुछ पत्रकार भी शामिल थे सो अगले ही दिन यह घटना अमेरिका के अखबारों की हैडलाइन बन गई. जानेमाने अमेरिकी अखबार ‘द वाशिंगटन पोस्ट’ ने तो इसके ऊपर एक कार्टून ही बनाकर छाप दिया.

Wikipedia

ये कार्टून मॉरिस मिकटॉम नाम के एक रूसी यहूदी ने देखा जो ब्रुकलिन में दिन में टॉफियां बेचते थे और रात में अपनी पत्नी के साथ मिल कर सॉफ्ट टॉय बनाते थे. मिकटॉम ने एक कपड़े से भालू का बच्चे का खिलौना बनाया और अपनी दुकान पर रखा और नीचे नाम लिखा ‘टेडी बीयर’.


मिकटॉम ने  ऐसा ही एक खिलौना बना कर राष्ट्रपति रूजवेल्ट को भी भेजा जो उन्हें बहुत पसंद आया और उन्होंने तुरंत इसके लिए अपना नाम इस्तेमाल करने की अनुमति दे दी.

टेडी बियर कुछ ही समय में पूरे अमेरिका में लोकप्रिय हो गया और मिकटॉम टॉफियां बेचना बंद कर के पूरी तरह से टेडी बियर के धंधे में उतर गए. 1904  में रूजवेल्ट ने इसे रिपब्लिकन पार्टी के चिन्ह के रूप में भी अपनाने की इजाजत दे दी.

आज टेडी बियर पूरी दुनिया में फ़ैल चुका है और बच्चों की पहली पसंद बन गया है.

और पढ़ें ...