Showing posts with label weird news. Show all posts

4/28/2021

thumbnail

"85 का हूँ, अपनी ज़िंदगी जी चुका हूँ", कहकर नारायण ने युवा कोविड मरीज को दे दिया अपना बेड

 विरले होते हैं वो लोग जो अपनी जान से ज्यादा दूसरे की जान को अहमियत देते हैं। इस कोरोना काल में आज जब देश के अस्पतालों में ऑक्सिजन और बेड को लेकर त्राहि त्राहि मची हुई है, ऐसे में कोई अपना बेड किसी और को देकर खुद मौत को गले लगा ले, ये अविश्वसनीय सा लगता है लेकिन महाराष्ट्र के नागपुर में कुछ ऐसा ही हुआ है। 

Source - Twitter/ChouhanShivraj

जानकारी के अनुसार नागपुर के 85 वर्षीय नारायण दाभडकर कोरोना पॉज़िटिव हो गए थे। काफी दौड़धूप के बाद उनका परिवार किसी तरह उनके लिए एक अस्पताल में एक बेड की व्यवस्था कर पाया। जिस समय नारायण को भर्ती करने की कार्यवाही चल रही थे उसी समय एक दुखी महिला अपने कोविड पॉज़िटिव पति के लिए बेड की तलाश में उसी हॉस्पिटल में पहुंची। 

अस्पताल में बेड की किल्लत तो थी ही, साथ ही उस महिला का पति युवा था और बुजुर्ग नारायण से ये देखकर रहा नहीं गया। उन्होने तुरंत भर्ती होने से मना करते हुये अपना बेड उस महिला के पति को ऑफर कर दिया। उन्होने डॉक्टर से कहा - "मेरी उम्र 85 की हो चुकी है। काफी कुछ देख चुका हूँ, अपना जीवन भी लगभग जी चुका हूँ। इस समय बेड की आवश्यकता मुझसे अधिक उस महिला के पति को है। उसके बच्चों को पिता की आवश्यकता है।"

बुजुर्ग नारायण ने डॉक्टर से कहा - "यदि उस महिला का पति मर गया तो उसके बच्चे अनाथ हो जाएँगे।" 

इसके बाद उन्होने अपना बेड उस आदमी को दे दिया और खुद घर चले आए जहां उनकी देखभाल की जाने लगी। तीन दिन बाद उनकी मृत्यु हो गई। बताया जा रहा है कि श्री नारायण दाभडकर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े थे। उनके इस अप्रतिम त्याग की कहानी को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने स्वयं ट्वीट करके बताया है - 

श्री नारायण जी आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन जाते जाते मानवता की मिसाल कायम कर गए हैं।  

और पढ़ें ... 

2/18/2021

thumbnail

लड़कियों से बात कर सके इसलिए चुपके से टायर कर देता था पंक्चर

 कोई मनचला लड़कियों से बात करने के लिए कैसे कैसे अजीब तरीके अपना सकता है इसका एक ताज़ा उदाहरण जापान से सामने आया है।

Aichi Prefecture, Japan में एक 32 वर्षीय आदमी को लड़कियों की गाड़ियों के टायरों में cut लगाने के लिए गिरफ्तार किया गया है। ये आदमी सुपरमार्केट जैसी जगहों पर आने वाली महिलाओं की गाड़ियों के टायर में चुपके से cut लगा देता था, और बाद में खुद ही मदद करने पहुँच जाता था।


अब तक करीब 1000 महिलाओं की गाड़ियों के टायर पंक्चर कर चुका ये आदमी शायद अभी पकड़ा भी न जाता अगर उसने एक ही महिला की गाड़ी दूसरी बार न पंक्चर की होती।

दरअसल हाल ही में एक सुपरमार्केट में ख़रीदारी करने आई एक महिला जब अपनी गाड़ी लेकर अपने घर की ओर चली तो थोड़ी दूर चलते ही उसे एहसास हुआ कि गाड़ी का एक टायर पंक्चर हो गया है। अभी वह उतरकर टायर को देख ही रही थी कि तभी पीछे से एक आदमी आया और बड़े ही दोस्ताना ढंग से उसे टायर बदलने में मदद की पेशकश करने लगा।

उस आदमी को देखते ही महिला को याद आया कि करीब एक साल पहले भी उसकी गाड़ी इसी तरह इसी जगह पर पंक्चर हुई थी और तब भी एक आदमी इसी तरह मदद करने आया था। महिला ने जब उस आदमी को गौर से देखा तो उसे लगा कि यह कहीं वही आदमी तो नहीं है।



फिर क्या था, महिला ने किसी अनहोनी की आशंका के चलते पुलिस बुला ली। पुलिस ने जब सुपर मार्केट के बाहर लगे कैमरों को चेक किया तो पता चला कि इसी आदमी ने कुछ ही मिनट पहले महिला की गाड़ी में कट लगाया था और फिर एक तरफ खड़े होकर इंतज़ार कर रहा था।

एक रिपोर्ट के मुताबिक पूछताछ करने पर आदमी ने बताया कि ऐसा उसने इसलिए किया ताकि वह महिला से बात कर सके। इतना ही नहीं पुलिस ने यह भी पता लगाया  कि वह सालों से ऐसा कर रहा है और अब तक वह करीब एक हजार महिलाओं के साथ ऐसा कर चुका है।