5/01/2021

thumbnail

वो भारतीय, जिसने बताया कि Peak XV दुनिया की सबसे ऊंची चोटी है

 

8850 मीटर ऊँची दुनिया की सबसे ऊँची चोटी माउंट एवरेस्ट के बारे में तो आप सबने सुना-पढ़ा होगा पर क्या आपको इस चीज का अंदाजा है कि इस चोटी की ऊंचाई को सबसे पहले एक भारतीय ने मापा था ना कि ब्रिटिश सरकार के किसी अधिकारी ने. 

वह भारतीय था राधानाथ सिकदर जो इतने बड़े योगदान के बाद भी इतिहास के पन्नो में कही खो गया. जिस शख्स की शोहरत पूरी दुनिया में होनी चाहिए उसके बारे में आज शायद ही किसी को पता होगा. इस वीडियो में जानिये पूरी कहानी –


thumbnail

10 Classic Hindi Jokes जिन्हें पढ़कर हँसे बिना न रह पाओगे

Joke #1

एक नेताजी से किसी ने पूछा – “ये जनता और आदमी से पहले ‘आम’ शब्द क्यों लगाते हैं, जैसे ‘आम आदमी’, ‘आम जनता’ ?”

नेताजी ने बड़ा ही खूबसूरत जवाब दिया. बोले – “ताकि उसे ‘आम’ की तरह चूसा जा सके और रस निकलने के बाद  ‘गुठली’ की तरह फेंका जा सके…”

Joke #2

तीन कैदियों को फांसी की सजा दी जा रही थी.

जहां फंदा लगाया गया था उसके नीचे गहरा पानी था.

पहले कैदी को लटकाया गया तो फंदा ठीक से न लगा होने के कारण खुल गया और वह पानी में गिरा और तैरकर बाहर निकल गया.

दूसरे को लटकाया तो फिर फंदा खुल गया और वह भी तैरकर बाहर निकल गया.

जब तीसरे की बारी आई तो वह जल्लाद से बोला – “भाई, ज़रा फंदा ठीक से लगाना … मुझे तैरना नहीं आता !”

Joke #3

आदमी – क्यों भाई, आजकल कोई कविता नहीं लिख रहे हो, क्या बात है ?

कवि – नहीं भाई, दरअसल जिस लड़की के लिए लिखता था उसकी शादी हो गई.

आदमी – अरे ! फिर तो ‘विरह’ में कविता और भी अच्छी बनेगी न भाई ?

कवि – आप समझ नहीं रहे हैं … दरअसल उस लड़की की शादी मुझसे ही हो गई है !

Jokes #4

क्लास में नैतिक शिक्षा के पाठ के दौरान बच्चों को ‘चोरी करना बुरी बात है’ यह समझाने के बाद टीचर ने पूछा –

“अच्छा बताओ, यदि मैं किसी आदमी की जेब से  उसे बताए  बिना  रुपये निकाल लेती हूं तो मैं क्या कहलाऊंगी … ?”


एक बच्चे ने हाथ उठाकर बताया – “उस आदमी की बीवी …….!!!”

Jokes #5

स्पेनिश नौसेना के एक युध्दपोत का कप्तान एक दिन डेक पर टहल रहा था कि तभी उसका सहायक भागता हुआ आया और चिल्लाया – सर ! मैंने अभी अभी दुश्मन का एक युध्दपोत देखा है जो हमारी तरफ आ रहा है ।

कप्तान ने शांतिपूर्वक उसकी बात सुनी, फिर उसे आदेश दिया – जाओ, मेरी लाल कमीज लेकर आओ ।

सहायक उसकी लाल रंग की कमीज ले आया जिसे कप्तान ने पहन लिया।

दोनों जलपोतों के बीच भयंकर युध्द हुआ और अंत में स्पेनिश पोत विजयी रहा। युध्द के बाद, सहायक ने कप्तान से पूछा – सर! मैं आपसे एक बात पूछना चाहता था! आपने युध्द के दौरान लाल रंग की कमीज क्यों पहनी ?

कप्तान ने गर्व भरे ढंग से बताया – ताकि यदि मुझे गोली लगे तो मेरे सैनिक मेरे शरीर से बहता हुआ खून न देख सकें और उनका हौसला न टूटे।

सहायक अपने कप्तान की बहादुरी और बुध्दिमत्ता का कायल हो गया। तभी एक दूसरा सिपाही भागता हुआ आया और बोला – सर, सर ! मैंने अभी दुश्मन के 20 युध्दपोत देखे हैं जो हमारी तरफ आ रहे हैं !

कप्तान, सहायक की ओर मुड़ा और आदेश दिया – जाओ और जाकर मेरी पीले रंग की पेन्ट लेकर आओ…..।

Joke #6

डब्बू – तुम्हारी टांग कैसे टूट गई ?

मंगू – क्या बताऊँ यार ! दारू कम पी थी इसलिए !

डब्बू – क्या  मतलब ? दारू कम पीने से टांग कैसे टूट सकती है ?

मंगू – सीधी सी बात है, अगर मैंने छक कर पी होती तो मैं ठेके पर ही लुढक गया होता. अब चूंकि कम पी थी इसलिए घर की ओर चल पड़ा और रास्ते में एक गड्ढे में गिर गया …. 

Joke #7

बॉयफ्रेंड – ऐसा करते हैं, हम दोनों कुछ दिन साथ रहकर देखते हैं. अगर हमारे मिजाज़ मिले तो शादी कर लेंगे, और अगर कोई गलती हुई तो अलग हो जायेंगे.

गर्ल फ्रेंड – बहुत अच्छा ! उसके बाद “गलती” किसके पास रहेगी ???

Joke #8

बैरा – माफ कीजिये, नशाबंदी के कारण हम आपको शराब नहीं दे सकते.

ग्राहक – मगर इस अलमारी में तो शराब रखी है !

बैरा –  यह उन लोगों के लिए है जिन्हें सांप-बिच्छू काट ले.

ग्राहक – इधर सांप-बिच्छू कहाँ मिलेंगे … ?

Joke #9

एक डॉक्टर साहब की पत्नी के पेट में आधी रात को अचानक गुड़गुड़ होने लगी तो वह टॉयलेट में गई.  वहाँ जाकर देखा कि उनका टॉयलेट तो पूरी तरह से ब्लॉक हो गया है.

डॉक्टर साहब ने पत्नी से कहा, “मैं अभी प्लम्बर को बुलाता हूं!”

पत्नी बोली, “रात के दो बजे  प्लम्बर को बुलाओगे ?”

डॉक्टर: “हाँ क्यों नहीं, मैं तो बुलाऊंगा. हम भी तो जाते हैं रात को अगर कोई मरीज बीमार हो जाये !”

उसने प्लम्बर को फोन किया, शिकायत की और उसे रात को ही आने को कहा। प्लम्बर ने सुबह आने को कहा तो डॉक्टर ने फिर से वही बात कही, “अगर मैं रात को मरीज देखने जा सकता हूं तो तुम क्यों नहीं आ सकते?”

रात को करीब ढाई  बजे प्लम्बर आंखों को मलता हुआ पहुंचा. डॉक्टर ने उसे टॉयलेट दिखाया.

प्लम्बर बाहर गया, वहाँ कुछ गोलियां पड़ी हुई थी. उसने दो गोलियां उठा कर टॉयलेट में डाल दी और डॉक्टर से कहा, “अगर कोई फर्क नहीं पड़े तो सुबह फिर से मुझे कॉल कर लेना. अभी निकालो तीन सौ रुपये मेरी फीस … !!!”

Joke #10

एक बार  बॉर्डर के एक गाँव में एक आतंकवादी घुस आया.

दो गाँववालों ने उसे पकड़ लिया और जुट पड़े पिटाई करने में ….

लातों घूंसों से उसे बहुत मारा …

अब आतंकवादी हाथ जोड़ कर गिडगिडा कर छोड़ देने की गुजारिश करने लगा.

एक गाँववाले ने जेब से एक गोटी निकाली और बोला – “चल गोटी फेंक, 1 से 5 तक आया तो पिटेगा ….”

आतंकवादी – “और 6 आया तो ?”

दूसरे गाँववाले ने उसके पिछवाड़े पर जोर की लात मारी और बोला – “साले कभी लूडो नहीं खेला क्या …. 6 आया तो …

गोटी दुबारा फेंकनी पड़ेगी … !!!”

4/29/2021

thumbnail

चोर और राजा (एक लोककथा )


किसी जमाने में एक चोर था। वह बड़ा ही चतुर था। लोगों का कहना था कि वह आदमी की आंखों का काजल तक उड़ा सकता था। एक दिन उस चोर ने सोचा कि जबतक वह राजधानी में नहीं जाएगा और अपना करतब नहीं दिखाएगा, तब तक चोरों के बीच उसकी धाक नहीं जमेगी। यह सोचकर वह राजधानी की ओर रवाना हुआ और वहां पहुंचकर उसने यह देखने के लिए नगर का चक्कर लगाया कि कहां क्या कर सकता है।

उसने तय कि राजा के महल से अपना काम शुरू करेगा। राजा ने रात दिन महल की रखवाली के लिए बहुतसे सिपाही तैनात कर रखे थे। बिना पकड़े गये परिन्दा भी महल में नहीं घुस सकता था। महल में एक बहुत बड़ी घड़ी लगी थी, जो दिन रात का समय बताने के लिए घंटे बजाती रहती थी।

चोर ने लोहे की कुछ कीलें इकट्ठी कीं ओर जब रात को घड़ी ने बारह बजाये तो घंटे की हर आवाज के साथ वह महल की दीवार में एक-एक कील ठोकता गया। इस तरह बिना शोर किये उसने दीवार में बारह कीलें लगा दीं, फिर उन्हें पकड पकडकर वह ऊपर चढ़ गया और महल में दाखिल हो गया। इसके बाद वह खजाने में गया और वहां से बहुत से हीरे चुरा लाया।

अगले दिन जब चोरी का पता लगा तो मंत्रियों ने राजा को इसकी खबर दी। राजा बडा हैरान और नाराज हुआ। उसने मंत्रियों को आज्ञा दी कि शहर की सड़कों पर गश्त करने के लिए सिपाहियों की संख्या दूनी कर दी जाये और अगर रात के समय किसी को भी घूमते हुए पाया जाये तो उसे चोर समझकर गिरफ्तार कर लिया जाये।

जिस समय दरबार में यह ऐलान हो रहा था, एक नागरिक के भेष में चोर मौजूद था। उसे सारी योजना की एक बात का पता चल गया। उसे फौरन यह भी मालूम हो गया कि कौन से छब्बीस सिपाही शहर में गश्त के लिए चुने गये हैं। वह सफाई से घर गया और साधु का बाना धारण करके उन छब्बीसों सिपाहियों की बीवियों से जाकर मिला। उनमें से हरेक इस बात के लिए उत्सुक थी कि उसकी पति ही चोर को पकडे ओर राजा से इनाम ले।


एक-एक करके चोर उन सबके पास गया ओर उनके हाथ देख देखकर बताया कि वह रात उसके लिए बडी शुभ है। उसके पति की पोशाक में चोर उसके घर आयेगा; लेकिन, देखो, चोर की अपने घर के अंदर मत आने देना, नहीं तो वह तुम्हें दबा लेगा। घर के सारे दरवाजे बंद कर लेना और भले ही वह पति की आवाज में बोलता सुनाई दे, उसके ऊपर जलता कोयला फेंकना। इसका नतीजा यह होगा कि चोर पकड में आ जायेगा।

सारी स्त्रियां रात को चोर के आगमन के लिए तैयार हो गईं। अपने पतियों को उन्होंने इसकी जानकारी नहीं दी। इस बीच पति अपनी गश्त पर चले गये और सवेरे चार बजे तक पहरा देते रहे। हालांकि अभी अंधेरा था, लेकिन उन्हें उस समय तक इधर उधर कोई भी दिखाई नहीं दिया तो उन्होंने सोचा कि उस रात को चोर नहीं आयेगा, यह सोचकर उन्होंने अपने घर चले जाने का फैसला किया। ज्योंही वे घर पहुंचे, स्त्रियों को संदेह हुआ और उन्होंने चोर की बताई कार्रवाई शुरू कर दी।

फल वह हुआ कि सिपाही जल गये ओर बडी मुश्किल से अपनी स्त्रियों को विश्वास दिला पाये कि वे ही उनके असली पति हैं और उनके लिए दरवाजा खोल दिया जाये। सारे पतियों के जल जाने के कारण उन्हें अस्पताल ले जाया गया। दूसरे दिन राजा दरबार में आया तो उसे सारा हाल सुनाया गया। सुनकर राजा बहुत चिंतित हुआ और उसने कोतवाल को आदेश दिया कि वह स्वयं जाकर चोर पकड़े।

उस रात कोतवाल ने तैयार होकर शहर का पहरा देना शुरू किया। जब वह एक गली में जा रहा रहा था, चोर ने उसे देख कर कहा, “मैं चोर हूं।″ कोतवाल समझा कि कोई मजाक कर रहा है। उसने कहा, ″मजाक छाड़ो ओर अगर तुम चोर हो तो मेरे साथ आओ। मैं तुम्हें काठ में डाल दूंगा।″ चोर बोला, ″ठीक है। इससे मेरा क्या बिगड़ेगा!″ और वह कोतवाल के साथ काठ डालने की जगह पर पहुंचा।

वहां जाकर चोर ने कहा, ″कोतवाल साहब, इस काठ को आप इस्तेमाल कैसे किया करते हैं, मेहरबानी करके मुझे समझा दीजिए।″ कोतवाल ने कहा, तुम्हारा क्या भरोसा! मैं तुम्हें बताऊं और तुम भाग जाओ तो ?″ चोर बोला, ″आपके बिना कहे मैंने अपने को आपके हवाले कर दिया है। मैं भाग क्यों जाऊंगा?″ कोतवाल उसे यह दिखाने के लिए राजी हो गया कि काठ कैसे डाला जाता है। ज्यों ही उसने अपने हाथ-पैर उसमें डाले कि चोर ने झट चाबी घुमाकर काठ का ताला बंद कर दिया और कोतवाल को राम-राम करके चल दिया।

जाड़े की रात थी। दिन निकलते-निकलते कोतवाल मारे सर्दी के अधमरा हो गया। सवेरे जब सिपाही बाहर आने लगे तो उन्होंने देखा कि कोतवाल काठ में फंसे पड़े हैं। उन्होंने उनको उसमें से निकाला और अस्पताल ले गये।

अगले दिन जब दरबार लगा तो राजा को रात का सारा किस्सा सुनाया गया। राजा इतना हैरान हुआ कि उसने उस रात चोर की निगरानी स्वयं करने का निश्चय किया। चोर उस समय दरबार में मौजूद था और सारी बातों को सुन रहा था। रात होने पर उसने साधु का भेष बनाया और नगर के सिरे पर एक पेड़ के नीचे धूनी जलाकर बैठ गया।

राजा ने गश्त शुरू की और दो बार साधु के सामने से गुजरा। तीसरी बार जब वह उधर आया तो उसने साधु से पूछा कि, ″क्या इधर से किसी अजनबी आदमी को जाते उसने देखा है?″ साधु ने जवाब दिया कि “वह तो अपने ध्यान में लगा था, अगर उसके पास से कोई निकला भी होगा तो उसे पता नहीं। यदि आप चाहें तो मेरे पास बैठ जाइए और देखते रहिए कि कोई आता-जाता है या नहीं।″ यह सुनकर राजा के दिमाग में एक बात आई और उसने फौरन तय किया कि साधु उसकी पोशाक पहनकर शहर का चक्कर लगाये और वह साधु के कपड़े पहनकर वहां चोर की तलाश में बैठे।

आपस में काफी बहस-मुबाहिसे और दो-तीन बार इनकार करने के बाद आखिर चोर राजा की बात मानने को राजी हो गया ओर उन्होंने आपस में कपड़े बदल लिये। चोर तत्काल राजा के घोड़े पर सवार होकर महल में पहुंचा और राजा के सोने के कमरे में जाकर आराम से सो गया, बेचारा राजा साधु बना चोर को पकड़ने के लिए इंतजार करता रहा। सवेरे के कोई चार बजने आये। राजा ने देखा कि न तो साधु लौटा और कोई आदमी या चोर उस रास्ते से गुजरा, तो उसने महल में लौट जाने का निश्चय किया; लेकिन जब वह महल के फाटक पर पहुंचा तो संतरियों ने सोचा, राजा तो पहले ही आ चुका है, हो न हो यह चोर है, जो राजा बनकर महल में घुसना चाहता है। उन्होंने राजा को पकड़ लिया और काल कोठरी में डाल दिया। राजा ने शोर मचाया, पर किसी ने भी उसकी बात न सुनी।

दिन का उजाला होने पर काल कोठरी का पहरा देने वाले संतरी ने राजा का चेहरा पहचान लिया ओर मारे डर के थरथर कांपने लगा। वह राजा के पैरों पर गिर पड़ा। राजा ने सारे सिपाहियों को बुलाया और महल में गया। उधर चोर, जो रात भर राजा के रुप में महल में सोया था, सूरज की पहली किरण फूटते ही, राजा की पोशाक में और उसी के घोड़े पर रफूचक्कर हो गया।

अगले दिन जब राजा अपने दरबार में पहुंचा तो बहुत ही हताश था। उसने ऐलान किया कि अगर चोर उसके सामने उपस्थित हो जायेगा तो उसे माफ कर दिया जायेगा और उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जायेगी, बल्कि उसकी चतुराई के लिए उसे इनाम भी मिलेगा। चोर वहां मौजूद था ही, फौरन राजा के सामने आ गया ओर बोला, “महाराज, मैं ही वह अपराधी हूं।″ इसके सबूत में उसने राजा के महल से जो कुछ चुराया था, वह सब सामने रख दिया, साथ ही राजा की पोशाक और उसका घोड़ा भी। राजा ने उसे गांव इनाम में दिये और वादा कराया कि वह आगे चोरी करना छोड़ देगा। इसके बाद से चोर खूब आनन्द से रहने लगा।

thumbnail

100 साल पहले एक औरत इसलिए प्रसिद्ध हुई थी कि उसे कोई हंसा नहीं सकता था

 दुनिया में हर रोज घोटाले उजागर होते हैं. कई घोटाले आपने सुने होंगे लेकिन आज हम आपको एक अजीबोगरीब घोटाले के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे आप ‘मुस्कान घोटाला’ या ‘हंसी घोटाला’ कह सकते हैं. ये घोटाला कोई 100 साल पहले हुआ था. पूरा किस्सा जानने के लिए इस पोस्ट को आखिर तक पढ़ते रहिये.

न्यूयॉर्क में एक थिएटर हुआ करता था जिसका नाम था Hammerstein’s जिसे 1904 से 1914 Willie Hammerstein नामक शख्स चलाया करता था. इस थिएटर में लोगों के मनोरंजन के लिए तरह तरह के छोटे- छोटे एक्ट हुआ करते थे जैसे कि आजकल स्टैंडअप कॉमेडी शोज में होते हैं.

Wikimedia Commons


1907 में इस थिएटर से एक नाम जुड़ा, Sober Sue. ये एक महिला थी जिसके बारे में कहा गया कि इस महिला को कोई हंसा नहीं सकता है. थिएटर के मालिकों ने इस महिला को हंसाने वाले के लिए 1000 डॉलर का इनाम रखा.

शुरू शुरू में दर्शकों में से कई लोगों ने इस महिला के सामने तरह तरह की हरकतें करके, चुटकुले सुनाकर हंसाने का प्रयास किया, लेकिन विफल रहे. बाद में इस महिला को हंसाने के लिए प्रोफेशनल कॉमेडियन भी आने लगे मगर Sober Sue को न हँसना था और न वो हंसी. यहाँ तक कि उसने कभी एक छोटी सी मुस्कान तक न बिखेरी.

बहरहाल, Sober Sue ‘कभी न हंसने वाली महिला’ के रूप में विख्यात हो गईं और उसकी प्रसिद्धि के चक्कर में थिएटर वालों का धंधा भी खूब चला. स्टेज पर अपनी उपस्थिति के लिए Sober Sue को 20 डॉलर प्रति सप्ताह दिए जाते थे जो उस जमाने के हिसाब से ठीक ही थे. Sober Sue को हंसाने के लिए कई बड़े बड़े कॉमेडियन्स ने चैलेंज स्वीकार किया और फ्री में उस थिएटर में अपनी परफॉरमेंस दी मगर उस महिला को हंसा न सके.

लेकिन जैसे कि हर ढोल की पोल आखिर खुलती ही है, थिएटर वालों की पोल भी एक दिन खुल ही गई. आखिर Sober Sue को हंसी क्यों नहीं आती, लोग जब इस बात के पीछे पड़े और जानकारी जुटाई तो जो राज पता चला उससे थिएटर वालों की जम कर थू थू हो गई.

पता चला कि Sober Sue तो हंसी आने के बावजूद भी चाहकर भी नहीं हंस सकतीं क्योंकि उनके चेहरे की वे मांसपेशियां, जिनसे हंसी या मुस्कान के भाव प्रदर्शित होते हैं, लकवाग्रस्त हैं. अर्थात वह महिला मन ही मन चाहे कितना ही हंस ले, चेहरे पर उसे दिखाने में समर्थ ही नहीं थी. इस बात का पता जब उन कॉमेडियन लोगों को चला जिन्होंने Sober Sue को हंसाने के चक्कर में फ्री में HammerStein के थिएटर में परफॉर्म किया, तो वे ठगे से रह गए और उन्होंने इसके लिए थिएटर मालिकों को कभी माफ़ नहीं किया.

(Featured Image Source : Note - Not the actual photograph of Sober Sue)

thumbnail

अब घर बैठे बन जाएगा पेन कार्ड, बस आधार नंबर होना चाहिए

आधार कार्ड की तरह PAN कार्ड भी एक अत्यंत महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है जिसकी जरूरत समय समय पर पड़ती ही रहती है। बैंक में खाता खोलना हो, वित्तीय लेनदेन करना हो, आयकर रिटर्न भरना हो या पहचान पत्र के रूप में इस्तेमाल करना हो, PAN Card सभी जगह काम आता है। 

आमतौर पर पेन कार्ड बनवाने के लिए आपको किसी PAN Card Agency के पास जाना होता है जो आपसे दस्तावेज़ लेकर आपका आवेदन जमा करा देते हैं। बाद में आपका पेन कार्ड डाक के माध्यम से आपके घर पहुँच जाता है। 

लेकिन इस कोरोना काल में जबकि जहां देखो वहाँ लॉकडाउन या कर्फ़्यू लगे हुये हैं, पेन कार्ड बनवाने के लिए किसी एजेंसी के पास जाना मुनासिब नहीं है। ऐसे वक़्त में यदि आपको PAN Card की आवश्यकता है तो मायूस होने की बिलकुल जरूरत नहीं है क्योंकि अब आप अपना पेन कार्ड खुद ही घर बैठे इंटरनेट के माध्यम से बना सकते हैं। इसके लिए आपको केवल अपने आधार नंबर की जरूरत होगी, बस ! 

इंटरनेट के माध्यम से बनाए गए इस पेन कार्ड को e-PAN के नाम से भी जाना जाता है। अपना e-PAN बनाने के लिए आपको अपना आधार नंबर और उससे लिंक्ड मोबाइल नंबर की आवश्यकता पड़ेगी। 

सम्पूर्ण प्रक्रिया इस प्रकार है - 

1 - सबसे पहले आयकर विभाग की e-filling website (https://www.incometaxindiaefiling.gov.in) पर जाएँ। 

2- यहाँ जाकर Instant PAN through Aadhaar पर क्लिक करें। 

3- अब एक नया पेज खुलेगा जिस पर Get New PAN और Check Status/Download PAN नाम की दो लिंक होंगी। यहाँ पर आप Get New PAN पर क्लिक करें। (उससे भी हमारी सलाह है कि आप इसी पेज पर दी गई लिंक की सहायता से Guidelines पहले पढ़ लें, तभी आगे बढ़ें।)

4- Get New PAN पर क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा जिस पर आपको एक फॉर्म दिखाई देगा। इस फॉर्म में निर्धारित स्थान पर अपना आधार नंबर और captcha code सही सही भर दें। 

5- उपरोक्त जानकारी भरने के बाद Generate Aadhaar OTP पर क्लिक करें। 

6- अब आपको आपके आधार से लिंक मोबाइल पर एक OTP प्राप्त होगा जिसे आप उपरोक्त वैबसाइट पर निर्धारित स्थान पर भरें और अपनी आधार डिटेल्स को validate करें। 

7- उपरोक्त प्रक्रिया सफलतापूर्वक करने के बाद आपको एक इंस्टेंट पेन कार्ड अलोट कर दिया जाएगा जो कि PDF फ़ारमैट में होगा। 

8- इस पीडीएफ़ फ़ाइल को आप Check Status/Download PAN लिंक पर जाकर download कर सकते हैं। साथ ही यह पेन कार्ड आपके रजिस्टर्ड ईमेल पर भी भेज दिया जाएगा जहां से भी आप इसे डाउनलोड कर सकते हैं। 

और पढ़ें ... 

4/28/2021

thumbnail

"85 का हूँ, अपनी ज़िंदगी जी चुका हूँ", कहकर नारायण ने युवा कोविड मरीज को दे दिया अपना बेड

 विरले होते हैं वो लोग जो अपनी जान से ज्यादा दूसरे की जान को अहमियत देते हैं। इस कोरोना काल में आज जब देश के अस्पतालों में ऑक्सिजन और बेड को लेकर त्राहि त्राहि मची हुई है, ऐसे में कोई अपना बेड किसी और को देकर खुद मौत को गले लगा ले, ये अविश्वसनीय सा लगता है लेकिन महाराष्ट्र के नागपुर में कुछ ऐसा ही हुआ है। 

Source - Twitter/ChouhanShivraj

जानकारी के अनुसार नागपुर के 85 वर्षीय नारायण दाभडकर कोरोना पॉज़िटिव हो गए थे। काफी दौड़धूप के बाद उनका परिवार किसी तरह उनके लिए एक अस्पताल में एक बेड की व्यवस्था कर पाया। जिस समय नारायण को भर्ती करने की कार्यवाही चल रही थे उसी समय एक दुखी महिला अपने कोविड पॉज़िटिव पति के लिए बेड की तलाश में उसी हॉस्पिटल में पहुंची। 

अस्पताल में बेड की किल्लत तो थी ही, साथ ही उस महिला का पति युवा था और बुजुर्ग नारायण से ये देखकर रहा नहीं गया। उन्होने तुरंत भर्ती होने से मना करते हुये अपना बेड उस महिला के पति को ऑफर कर दिया। उन्होने डॉक्टर से कहा - "मेरी उम्र 85 की हो चुकी है। काफी कुछ देख चुका हूँ, अपना जीवन भी लगभग जी चुका हूँ। इस समय बेड की आवश्यकता मुझसे अधिक उस महिला के पति को है। उसके बच्चों को पिता की आवश्यकता है।"

बुजुर्ग नारायण ने डॉक्टर से कहा - "यदि उस महिला का पति मर गया तो उसके बच्चे अनाथ हो जाएँगे।" 

इसके बाद उन्होने अपना बेड उस आदमी को दे दिया और खुद घर चले आए जहां उनकी देखभाल की जाने लगी। तीन दिन बाद उनकी मृत्यु हो गई। बताया जा रहा है कि श्री नारायण दाभडकर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े थे। उनके इस अप्रतिम त्याग की कहानी को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने स्वयं ट्वीट करके बताया है - 

श्री नारायण जी आज हमारे बीच नहीं हैं लेकिन जाते जाते मानवता की मिसाल कायम कर गए हैं।  

और पढ़ें ... 

4/26/2021

thumbnail

'दिल' के ऊपर शायरी | Dil Shayari in Hindi

 Dil Shayari



पढ़िये 'दिल' के ऊपर बेहतरीन शायरी जिसे दुनिया के बेहतरीन शायरों द्वारा लिखा गया है - 

दिल की बोली 

दिल की बातों को दिल समझता है 
दिल की बोली अजीब  बोली है 
(इब्न-ए-मुफ़्ती)

दिल है दिल 

ये दिल है दिल इसे सीने में हरगिज़
कभी रखना न तुम पत्थर बना के
(फराज़ सुल्तानपुरी)

दिल की लगी 

दिल की लगी दिल वाला जाने
क्या समझे समझाने वाला
(जका सिद्दीकी)

मुश्किल तो ये है 

मोहब्बत रंग दे जाती है जब दिल दिल से मिलता है
मगर मुश्किल तो ये है दिल बदिल मुश्किल से मिलता है
(जलील मानिकपुरी)

दिल की आरज़ू 

होती कहाँ है दिल से जुदा दिल की आरज़ू
जाता कहाँ है शमा को परवाना छोड़ कर
(जलील मानिकपुरी)

दिल लगा लेते हैं 

दिल लगा लेते हैं अहल-ए-दिल वतन कोई भी हो
फूल को खिलने से मतलब है चमन कोई भी हो
(बसीर सुल्तान काजमी )

तुम्हारा दिल

तुम्हारा दिल मिरे दिल के बराबर हो नहीं सकता
वो शीशा हो नहीं सकता ये पत्थर हो नहीं सकता
(दाग़ देहलवी)

इश्क़ में

इश्क़ में दिल का ये मंज़र देखा
आग में जैसे समुंदर देखा
(हनीफ़ अख़गर)

जो बेचते थे दवा-ए-दिल

कोई क्यूँ किसी का लुभाए दिल कोई क्या किसी से लगाए दिल
वो जो बेचते थे दवा-ए-दिल वो दुकान अपनी बढ़ा गए
(बहादुर शाह ज़फ़र)

हज़ार आज़माइशें

दिल एक और हज़ार आज़माइशें ग़म की
दिया जला तो था लेकिन हवा की ज़द पर था
(मुशफ़िक़ ख़्वाजा)

उस का हँस देना

दिल का दुख जाना तो दिल का मसअला है पर हमें
उस का हँस देना हमारे हाल पर अच्छा लगा
(अहमद फ़राज़)

धड़कने लगा दिल

धड़कने लगा दिल नज़र झुक गई
कभी उन से जब सामना हो गया
(जिगर मुरादाबादी)

दिल तुम्हारा हो गया

हमने सीने से लगाया दिल न अपना बन सका
मुस्कुरा कर तुम ने देखा दिल तुम्हारा हो गया
(जिगर मुरादाबादी)

दर्द का दिल

आज तो दिल के दर्द पर हंस कर
दर्द का दिल दुखा दिया मैंने
(ज़ुबैर अली ताबिश)

दिल ही न हो

दर्द हो दिल में तो दवा कीजे
और जो दिल ही न हो तो क्या कीजे
(मंज़र लखनवी)

दिल दे तो इस मिजाज का

दिल दे तो इस मिजाज का परवरदिगार दे
जो रंज की घड़ी भी खुशी से गुज़ार दे
(दाग़ देहलवी)

और पढ़ें ... 

4/22/2021

thumbnail

CoWIN App Registration | कोरोना की वैक्सीन लगवाने हेतु रजिस्ट्रेशन कैसे करें

 कोरोना महामारी से बचने के लिए सरकार द्वारा देश भर में चरणबद्ध तरीके से बड़े पैमाने पर corona vaccine लगाने का अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान की अगली कड़ी के रूप में  18 वर्ष से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लगाने हेतु रजिस्ट्रेशन 24 अप्रैल 2021 से शुरू हो जाएँगे। (Update : ताजा जानकारी के अनुसार रजिस्ट्रेशन 28 अप्रैल 2021 से शुरू होंगे )

Vaccination के लिए पहले आपको Registration कराना होगा। यह रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन जाकर घर से भी किया जा सकता है। इसके लिए भारत सरकार ने CoWIN नामक वैबसाइट लॉंच की है जिसका इंटरनेट एड्रैस https://www.cowin.gov.in है। इस वैबसाइट के जरिये Corona Vaccination हेतु Registration की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार है - 

  • सबसे पहले इस वैबसाइट पर जाकर आपको Register / Sign In Yourself लिंक पर क्लिक करना है। क्लिक करते ही एक नया पेज खुलेगा जहां आपसे आपका मोबाइल नंबर पूछा जाएगा। 
  • मोबाइल नंबर भरकर आप Get OTP पर क्लिक करेंगे जिसके बाद आपके मोबाइल पर एक मेसेज आएगा जिसमें एक OTP (One Time Password) दिया होगा। इस ओटीपी को आपको निर्दिष्ट स्थान पर भर कर Verify पर क्लिक कर देना है। 
  • मोबाइल नंबर सफलतापूर्वक verify होने के बाद आप Register for Vaccination पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। 
  • इसके लिए आपको एक Photo ID Proof की आवश्यकता होगी क्योंकि उसका नंबर आपको रजिस्ट्रेशन के दौरान भरकर देना होगा। इसके लिए आप आधार कार्ड, पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेन्स, वोटर आईडी आदि किसी भी पहचान पत्र का इस्तेमाल कर सकते हैं। 
  • Photo ID Number के अलावा अन्य सामान्य जानकारियाँ जैसे नाम, जन्मतिथि, लिंग आदि भरनी होती हैं जिन्हें आप आसानी से भर सकते हैं। 
बस, इसके बाद आपको अपनी सुविधानुसार वैक्सीन लगवाने का स्थान और दिन तय करना है और आपका रजिस्ट्रेशन हो जाएगा। 
CoWIN वैबसाइट के अलावा आप आरोग्य सेतु एप (Arogya Setu App) के माध्यम से भी रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। एप में भी कमोबेश वही जानकारियाँ भरनी होती हैं जो वैबसाइट पर चाहिए। 

4/20/2021

thumbnail

Pati Patni Ke Chutkule | पति पत्नी के चुटकुले

Husband Wife Jokes in Hidni ( Pati Patni Ke Chutkule)

कुछ लोग धर्म के नाम पर लड़ते हैं, 

कुछ धन के नाम पर लड़ते हैं , 

तो कुछ जाति के नाम पर लड़ते हैं .... 

केवल पति - पत्नी ही ऐसे हैं जो 

निस्वार्थ भाव से, बेवजह लड़ते हैं । 
------------------------------------------

भारतीय पत्नी एक घंटे तक पति को लैक्चर देने के बाद कहती है ... 

...

... 

"मैंने तो अब इनको कुछ भी बोलना ही छोड़ दिया है।"

-------------------------------------------

पति - "ये दिवाली की सफाई और कितनी करनी है .... मैं थक गया हूँ मुझे भूख लग रही है अब !!

पत्नी - "बस अब ज्यादा नहीं बची है ... तुम रहने दो मैं कर लूँगी .... तुम अब जाकर खाना बनाओ !!!"

-------------------------------------------

शादी के बाद बीवी से प्यार जताने के लिए

I Love YOU से भी असरदार लाइन है - 

"लाओ आज बर्तन मैं माँज देता हूँ ।"

---------------------------------------------

डॉक्टर- आपके तीन दांत कैसे टूट गए?

मरीज- आज पत्नी ने जरा कड़क रोटी बनाई थी।

डॉक्टर- तो भाई, खाने से इंकार कर देते।

मरीज- जी, वही तो किया था.. 

--------------------------------------

मासूम बनना है तो

पड़ोसन की नजर में बनो

घरवाली की नजर में तो हमेशा

.

.

ढक्कन ही रहोगे !

-------------------------------------

हिंदी बहुत ही शक्तिशाली भाषा है ... 

क्योंकि जैसे ही पत्नियां कहती हैं

“हिंदी में समझाऊं क्या ?” 

.

.

तुरंत सारे पति समझ जाते हैं !!

----------------------------------

आदमी ही आदमी का स्वभाव जानता है..

उदाहरण के लिए ..

ग्राहक : एक लेडिज ड्रेस चाहिए…

दुकानदार : वाइफ के लिए चाहिए या कोई और अच्छी सी दिखाऊं।

-----------------------------------

पत्नियों के भी अलग चोंचले हैं, 

सीधे सीधे बेवक़ूफ नहीं बोलती.. कहती हैं..

ये तो सीधे सादे से है, इनको दुनियादारी का कुछ पता नही!!

-------------------------------------

Watch Husband - Wife Funny Cartoon Comedy 


4/10/2021

thumbnail

जौन एलिया की शायरी | Jaun Elia Shayari in Hindi

 जौन एलिया की शायरी (Jaun Elia Shayari in Hindi)

जौन एलिया (Jaun Eliya) का नाम बीसवीं सदी के प्रमुख शायरों में गिना जाता है। उनका जन्म 1931 में अमरोहा (उत्तरप्रदेश) में हुआ था और मृत्यु सन 2002 में कराची (पाकिस्तान) में हुई। उनका पूरा नाम सैयद जौन असगर था लेकिन वे जौन एलिया (Jaun Eliya) के नाम से प्रसिद्ध थे। 

प्रस्तुत हैं जौन एलिया के कुछ प्रसिद्ध शेर - 

जो गुज़ारी न जा सकी हमसे 
हमने वो ज़िन्दगी गुज़ारी है 

मैं भी बहुत अजीब हूँ इतना अजीब हूँ कि बस 
खुद को तबाह कर लिया और मलाल  भी नहीं 

ये मुझे चैन क्यूँ नहीं पड़ता
एक ही शख्स था जहान में क्या 

ज़िंदगी किस तरह बसर होगी
दिल नहीं लग रहा मोहब्बत में 

बहुत नजदीक आती जा रही हो
बिछड़ने का इरादा कर लिया क्या 

कौन इस घर की देखभाल करे
रोज़ इक चीज़ टूट जाती है 

इलाज ये है कि मज़बूर कर दिया जाऊँ
वगरना यूँ तो किसी की नहीं सुनी मैंने 

उस गली ने ये सुन के सब्र किया
जाने वाले यहाँ के थे ही नहीं 

सारी दुनिया के ग़म हमारे हैं
और सितम ये कि हम तुम्हारे हैं 

और तो क्या था बेचने के लिए
अपनी आँखों के ख्वाब बेचे हैं 

मुझे अब तुम से डर लगने लगा है
तुम्हें मुझ से मोहब्बत हो गई क्या 

ज़िंदगी एक फन है लम्हों को
अपने अंदाज़ से गँवाने का 

दिल की तकलीफ कम नहीं करते
अब कोई शिकवा हम नहीं करते 

अब नहीं कोई बात ख़तरे की
अब सभी को सभी से खतरा है 

अपना रिश्ता ज़मीं से ही रक्खो
कुछ नहीं आसमान में रक्खा 

काम की बात मैंने की ही नहीं
ये मिरा तौर-ए-ज़िंदगी ही नहीं 

इक अजब हाल कि अब उसको
याद करना भी बेवफाई है 

शब जो हमसे हुआ मुआफ़ करो
नहीं पी थी बहक गए होंगे 

मैं जो हूँ 'जौन एलिया' हूँ जनाब
इस का बेहद लिहाज़ कीजिएगा 

अपने सर इक बला तो लेनी थी
मैं ने वो ज़ुल्फ़ अपने सर ली है 

जानिए उससे निभेगी किस तरह
वो खुदा है मैं तो बंदा भी नहीं 

और पढ़ें .... 

4/08/2021

thumbnail

जिओ का डाटा बैलेन्स चेक करने का तरीका | How to check data balance of JIO Sim ?

जिओ का डाटा बैलेन्स कैसे चेक करें | How do you check JIO Data Balance ?

जिओ इंटरनेट के लिए भारत में सबसे लोकप्रिय सेवा है। इसके आने के बाद ही भारत में इंटरनेट सस्ता होना शुरू हुआ और यही कारण है कि आज internet users के मामले में जिओ बाकी टेलीकॉम कंपनियों से बहुत आगे निकल चुकी है।

यदि आप भी जिओ के ग्राहक हैं और इंटरनेट के लिए Jio की सिम का इस्तेमाल करते हैं तो कभी कभी आपको डाटा बैलेन्स चेक करने की आवश्यकता पड़ती होगी। ज़्यादातर लोग इसके लिए My Jio एप का इस्तेमाल करते हैं जिसमें आपको न सिर्फ डाटा बैलेन्स पता चल जाता है बल्कि आप जिओ के रीचार्ज सहित कई अन्य सुविधाओं का भी लाभ उठा सकते हैं । 

लेकिन यदि आपके फोन में My Jio एप नहीं है और आप उसे इन्स्टाल नहीं करना चाहते हैं तो भी आप बड़ी आसानी से Jio का Data Balance पता कर सकते हैं। इसके दो तरीके हैं। एक तो नंबर डायल करके और दूसरा मैसेज करके। 

नंबर डायल करके जिओ का डाटा बैलेन्स जानना 


इस तरीके में आपको अपनी Jio Sim से एक नंबर डायल करना होता है जो है 1299 । जैसे ही आप अपने फोन के डायलर में जाकर 1299 नंबर पर फोन करते हैं, तुरंत आपके फोन में एक मैसेज आ जाता है जिसमें आपके Jio number के data का पूरा balance लिखा होता है।  

मैसेज करके जिओ का डाटा बैलेन्स जानना 

1299 नंबर डायल करने के अलावा message करके भी Jio का data balance पता किया जा सकता है। इसके लिए आपको अपने फोन की मैसेज एप में जाकर BAL लिखकर 199 नंबर पर भेजना होता है। ध्यान रहे, कि आपको यह मैसेज अपनी जिओ सिम का इस्तेमाल करके ही भेजना है। 

जैसे ही आप BAL लिखकर 199 पर भेजेंगे तुरंत आपके फोन में जिओ की ओर से एक रिटर्न मैसेज आ जाएगा जिसमें आपका पूरा डाटा बैलेन्स लिखा होता है। 

तो अब आप जान गए होंगे कि बिना My Jio App का उपयोग किए, अपने जिओ नंबर का डाटा बैलेन्स कैसे पता किया जाता है। 

4/02/2021

thumbnail

ऐसी अजब-गजब चीज़ें कौन बनाता है भाई, और क्यों ? (10+ Funny pics)

 दुनिया में एक से बढ़कर एक अजीबोगरीब खोपड़ी के लोग भरे पड़े हैं जो अजब गजब चीज़ें आविष्कार करते रहते हैं। कुछ अपनी सनक में करते हैं तो कुछ बेचारे ऐसे भी होते हैं जिन्हें पता ही नहीं होता कि जो कुछ वे कर रहे हैं उसे देखकर लोग हंस रहे हैं। खैर हमें क्या, हम तो ऐसी तस्वीरें देखते हैं और मुसकुराते हैं - 

1. छतरी वाले जूते देखे थे क्या कभी आपने .... ? जिसने भी ये आइडिया निकाला होगा वो किसी वैज्ञानिक से कम होगा क्या ?

FlindersEmma

2. बाथरूम में कारपेट कौन बिछवाता है यार !!

SynchroDJ

3. फीते खोलने - बांधने में कितना समय लगता होगा .... मने, जस्ट पूछिंग !!!

Sharanya

4.  कुत्ता है या कुत्ते जैसा बैग है ... क्या है आखिर ?

HashtagLarkyn

5. ये चीज़ जो नजर आ रही है वो बिलकुल नहीं है .... ये दरअसल बाल सँवारने की कंघी है 

Julee

6. आजा तुझे पलकों पे बैठा लूँ ... 

RadicalGayLefty


7. ये भी वो चीज़ बिलकुल नहीं जो आप सोच रहे हैं ... ये दरअसल earings हैं ! हैं न cool ?

TheSeaRose


8. आप अभी तक कप में ही चाय पीते हैं क्या ? देखिए ज़माना कहाँ से कहाँ पहुँच गया !!

R0tXD

9. हाथों के लिए भी pants आने लगे अब तो ... हे भगवान !

causticbob

10. ऐसे फुटवियर कौन पहनता है और क्यों पहनता है ?? मतलब फैशन के नाम पर कुछ भी !!

Meriel

11.खाते समय उँगलियों के लिए भी कवर ... ?? इसे कहते हैं क्रांतिकारी आविष्कार !!


और देखें ... 

4/01/2021

thumbnail

PAN को Aadhaar से Link कराना क्यों जरूरी है ?

क्या आपने अपने PAN (Permanent Account Number) को आधार कार्ड (Aadhaar) से लिंक (Link) करा लिया है ? यदि नहीं तो तुरंत कराइए क्योंकि इसकी अंतिम तारीख 31 मार्च 2021 रखी गई है (इसे अब बढ़ाकर 30 जून 2021 कर दिया गया है)। इसके बाद लिंक कराने पर आपको 1000 रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है। 

भारत के आयकर अधिनियम 1961 के सेक्शन 139AA के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति को अपने PAN नंबर को Aadhaar (आधार) नंबर से link कराना आवश्यक है । जिन लोगों को 1 जुलाई 2017 तक पैन नंबर मिल चुका था और जो आधार के लिए पात्र हैं उन्हें पैन - आधार लिंक कराना अनिवार्य है। 

PAN Card और Aadhaar Card को लिंक करने के लिए आपको आयकर विभाग की वैबसाइट https://www.incometaxindiaefiling.gov.in/home पर जाना होगा जहां आप Link Aadhaar पर क्लिक करके आसानी से अपने PAN और Aadhaar को लिंक करा सकते हैं। 

पैन और आधार को लिंक कराना क्यों आवश्यक है ? (Why is it necessary to link PAN with Aadhaar ?

दरअसल सरकार ने Finance Bill 2021 के जरिये Income Tax Act 1961 में एक नई धारा 234H जोड़ी है जिसके अनुसार अगर कोई व्यक्ति निर्धारित अंतिम तिथि तक अपने पैन को आधार से नहीं जोड़ता है तो उसे एक हजार रुपये तक का जुर्माना देना पड़ सकता है साथ ही साथ ज्यादा TDS भी देना पड़ सकता है। 

इसके साथ ही, पैन को आधार से न जोड़ने की स्थिति में आयकर विभाग ने ये भी कहा है कि PAN को निष्क्रिय कर दिया जाएगा अर्थात आपका पैन किसी काम का नहीं रहेगा। आप उसे वित्तीय लेनदेन में उपयोग नहीं कर पाएंगे। 

पैन कार्ड एक अत्यंत महत्वपूर्ण दस्तावेज़ है और इसलिए इसका अपडेट और एक्टिव रहना बहुत जरूरी है। बैंकिंग से लेकर शेयर मार्केट या अन्य किसी भी प्रकार के वित्तीय लेनदेन में पैन की आवश्यकता होती ही है। इसके निष्क्रिय होने की दशा में आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। 

आयकर विभाग ने PAN-Aadhaar link के लिए 31 मार्च 2021 की तिथि तय की थी लेकिन अब इसे बढ़ाकर 30 जून 2021 कर दिया गया है। 

 और पढ़ें ...